गुवाहाटी। 24 मार्च 1971 के बाद असम आए हिंदू बांग्लादेशियों को देश की नागरिकता दिलाने हेतु एक अध्यादेश जारी करवाने का प्रयास करने का प्रदेश भाजपा नेतृत्व पर आरोप लगाते हुए वाम-गणतांन्निक मंच, असम ने इस पर गहरी चिता व्यक्त की है ।

एक विज्ञप्ति के जरिए मंच ने कहा है कि भाजपा को छोड़ राज्य की कोई भी पार्टी इस प्रयास का समर्थन नहीं करती ऐसा कोई भी प्रयास राज्य के लोगों का सीधा अपमान माना जाएगा क्योंकि ऐसे प्रयास से असम की एकता व सदभाव पर बुरा असर पड़ सकता है।