हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने भारतीय वायुसेना के एएन-32 विमान दुर्घटना में शहीद हुए पलवल जिले के दीघोट गांव निवासी लेफ्टिनेंट पायलट आशीष तंवर के परिजनों से मुलाकात की।


मुख्यमंत्री ने आशीष तंवर के निवास स्थान पर पहुंचकर उनके परिजनों को ढांढस बंधाया। उन्होंने कहा कि इस दुख की घड़ी में सरकार परिजनों के साथ है। उन्होंने कहा कि आशीष ने छोटी सी उम्र में अपनी काबिलियत की छाप छोड़ी है। ऐसे होनहार युवा की अचानक मृत्यु से देश व प्रदेश को जो क्षति हुई, उसकी भरपाई करना मुश्किल है।


इस दौरान मुख्यमंत्री के साथ केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्यमंत्री कृष्णपाल गुर्जर और मुख्यमंत्री के राजनीतिक सचिव दीपक मंगला भी मौजूद थे। भारतीय वायुसेना के एएन 32 विमान ने तीन जून को असम के जोरहाट से अरूणाचल के मेनचुका के लिए उड़ान भरी थी, जिसका करीब आधे घंटे बाद ही संपर्क टूट गया था।


विमान में पलवल निवासी आशीष तंवर सहित 13 जवान सवार थे। गत 13 जून को सर्च अभियान दल ने विमान तक पहुंचकर सभी 13 जवानों की मृत्यु होने की पुष्टि कर दी थी। आशीष तंवर के परिवार में पत्नी संध्या, पिता राधेलाल, माता सरोज और बहन अंजुला हैं।