मंगलदै । अखिल असम अल्पसंख्यक छात्र संघ (आम्सू ) एक तरफ  बाल  विवाह जैसी सामाजिक बुराई के खिलाफ़ राज्यव्यापी आदोलन चला रखा है तो कुछेक आम्सू कार्यकर्ता इस आंदोलन का खुद ही मजाक उड़ा रहे है । इसी क्रम में आज जिले के धूला पुलिस ने स्थलीय आम्सू  नेता को नाबालिग लड़की से  विवाह करने  के आरोप में गिरफ्तार  कर  जेल भेज दिया । 

प्राप्त जानकारी के अनुसार धुला थाना क्षेत्र के अंतर्गत नंबर दो ठेकेराबाड़ी  गांव के युवक और बालाबारी आंचलिक आम्सू  के उपाध्यक्ष हानीफ़ अली दो दिन पहले उसी गांव के सफिकुल इस्लाम चौधरी की नाबालिक  पुत्री (15  बर्ष) के साथ गुप्त  रूप से विवाह रचाया।

 

 

इसकी जानकारी के बाद बालाबारी आंचलिक आम्सू  के अध्यक्ष हाफीजुर रहमान ने इस संबंध में धुला थाने में हानिफ अली को  मुख्य आरोपी बनाते हुए इज़हार दाखिल किया, जिसे पुलिस बाल विवाह अधिनियम निषेध कानून के तहत मामला दर्ज का लिया और मामले की जाँच' शुरू का दी। 

प्रारंभिक जांच के पश्चात आरोपी आम्सू  के उपाध्यक्ष को  गिरफ्तार का जेल भेज दिया । पुलिस सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार इस मामले  में  और भी गिरफ्तारियां हो सकती  हैं। इस बाल  विवाह करवाने  में जिसने भी सहयोग किया जैसे  आरोपी के परिवार वाले, विवाह कराने वाले काजी सभी को गिरफ्तार  करने के लिए जांच प्रकिया तेज का दी गई है । 

इधर अपने उपाध्यक्ष के गिरफ्तार होता देख हानीफ़ अली को आम्सू  ने संगठन से बर्खास्त का दिया । जेल जाने से पूर्व हानीफ अली ने बताया कि उसने अपनी 17 वर्ष 11 महीना की पत्नी के साथ कोई एग्रीमेंट किया है लेकिन  जब उससे उसकी पत्नी की उम्र का प्रमाण पत्र  मांगा तो वह दे नहीं सका  ।