केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने आज एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए बड़ा दावा किया है। पश्चिम बंगाल चुनावों को लेकर अमित शाह ने कहा है कि पहले चरण की 30 सीटों में से 26 सीटें बीजेपी जीत रही है। इसके साथ ही अमित शाह ने असम में भी दोबारा बीजेपी की सरकार बनने का दावा किया है।

अमित शाह ने कहा, "बंगाल और असम के पहले चरण में भारी संख्या में लोगों ने मतदान किया है। इसके लिए मैं मतदाताओं का धन्यवाद करता हूं। ये भारी मतदान बीजेपी के लिए शुभ संकेत है। मुझे उम्मीद है बंगाल के पहले चरण में 30 सीटों में से 26 सीट बीजेपी जीतेगी। मुझे विश्वास है कि बीजेपी 200 से ज्यादा सीटों के साथ पश्चिम बंगाल में सरकार बनाएगी। असम में भी 47 में से 37 से ज्यादा सीटें जीतेंगे। अभी असम में जितनी सीटे हैं उससे ज्यादा सीटों के साथ बीजेपी इस बार सरकार बनाएगी।"
अमित शाह ने आगे कहा, "असम और पश्चिम बंगाल में मतदान शांतिपूर्ण और सकारात्मक हुआ है। एक व्यक्ति की भी मृत्यु नहीं हुई हह दहशत थी कि हर बार की तरह गुंडे इस बार भी चुनाव को प्रभावित करेंगे। बंगाल में चुनाव आयोग को सफलतापूर्वक चुनाव कराने में सफलता मिली है। बंगाल के चुनाव में हिंसा आम बात हो गई थी। कई सालों के बाद यह पहला चुनाव है जब एक भी बम नहीं फटा है, एक भी गोली नहीं चली है।"
ममता बनर्जी द्वारा पीएम मोदी के बांग्लादेश दौरे पर सवाल किए जाने पर केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा, 'प्रधानमंत्री ने अपने बांग्लादेश दौरे पर कोई प्रचार की बात नहीं कही। PM का दौरा दो देशों के संबंधों को मजबूत करने के लिए है। वहां पर उन्होंने न चुनाव की बात कही, न ममता बनर्जी के लिए कुछ कहा है।'
पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव के पहले चरण में 30 विधानसभा सीटों के लिए 79.79 फीसदी मतदान हुआ. चुनाव आयोग के अनुसार, बांकुरा में लगभग 80.03 फीसदी, झाड़ग्राम में 80.55 फीसदी, पश्चिम मिदनापुर में 80.16 फीसदी और पूर्वी मिदनापुर जिले में 82.42 फीसदी मतदान दर्ज किया गया है।
झाड़ग्राम, मिदनापुर, पटशपुर और रामनगर उन प्रमुख क्षेत्रों में से थे, जहां पहले चरण में मतदान हुआ है। मतदान काफी हद तक शांतिपूर्ण रहा। हालांकि कुछ क्षेत्रों से हिंसा की कुछ घटनाएं जरूर सामने आईं। इस बीच, बीजेपी नेता शुभेंदु अधिकारी के भाई सौमेंदु अधिकारी पर हमले के विरोध में बीजेपी प्रतिनिधिमंडल ने यहां चुनाव आयोग के अधिकारियों से मुलाकात की। सौमेंदु ने तृणमूल कांग्रेस पर कोंटाई में उन पर हमले का आरोप लगाया है।
वहीं तृणमूल कांग्रेस के एक प्रतिनिधिमंडल ने पार्टी के लोकसभा नेता सुदीप बंद्योपाध्याय और माला रॉय के नेतृत्व में कोलकाता में मुख्य निर्वाचन अधिकारी (सीईओ) से मुलाकात की और चुनाव आयोग द्वारा प्रदान किए गए आंकड़ों में अंतर पर चिंता जताई। प्रतिनिधिमंडल ने मांग की कि अगले चरण से संबंधित मतदान केंद्र का मतदान एजेंट स्थानीय होना चाहिए, ताकि सभी के लिए उन्हें ट्रैक करना आसान हो जाए।