बिहार चुनावों को लेकर केंद्रिय गृहमंत्री अमित शाह ने नीतीश कुमार को लेकर बड़ा ऐलान किया है। भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष शाह ने बिहार के वैशाली में रैली के दौरान कहा है कि हम बिहार विधानसभा चुनाव में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में ही चुनाव लड़ेंगे। उन्होंने नागरिकता कानून को लेकर कांग्रेस पर निशाना साधा और कहा राहुल बाबा और लालू प्रसाद, आप CAA पर लोगों को गुमराह न करें। ममता बनर्जी भी लोगों को गुमराह कर रही हैं.।मैं बताना चाहता हूं कि ये नागरिकता देने का कानून है, इससे किसी की नागरिकता नहीं जा सकती।

इसके साथ ही  बिहार में बीजेपी और जेडीयू के बीच अनबन की अफवाहों को दरकिनार करते हुए अमित शाह ने साफ कर दिया कि 2020 का बिहार विधानसभा चुनाव वर्तमान मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में ही लड़ा जा रहा है। इससे पहले एलजेपी के अध्यक्ष चिराग पासवान भी कह चुके हैं कि बिहार विधानसभा चुनाव नीतीश के ही नेतृत्व ही लड़ा जा रहा है।

हालांकि बिहार के बीजेपी नेता नीतीश कुमार के नेतृत्व चुनाव लड़ने के लेकर सवाल उठाते रहे हैं। भाजपा के नेता संजय पासवान ने कहा था कि बिहार के लोग एक बीजेपी नेता को बिहार के मुख्यमंत्री के रूप में देखना चाहते हैं। उन्होंने दावा किया कि झारखंड वाली स्थिति बिहार में नहीं है। संजय पासवान ने नीतीश कुमार के 'थका चेहरा' बताया था। नीतीश कुमार का चेहरा अब पुराना हो गया है। बिहार के लोग अब थके नीतीश कुमार की जगह बीजेपी का मुख्यमंत्री देखना चाहते हैं।

इस पर जेडीयू ने भाजपा नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री संजय पासवान के इस बयान पर कड़ी प्रतिक्रिया दी है और कहा है कि ऐसे बड़बोले नेताओं के खिलाफ कार्रवाई करे। जेडीयू के महासचिव के सी त्यागी ने कहा था कि भाजपा नेतृत्व को ऐसे बयानों पर संज्ञान लेना चाहिए। उन्होंने आशा व्यक्त करते हुए कहा कि अमित शाह ऐसे बयानों पर संज्ञान लेंगे और आगे से इस तरह के बयान पर रोक लगाएंगे।

अब हम twitter पर भी उपलब्ध हैं। ताजा एवं बेहतरीन खबरों के लिए Follow करें हमारा पेज : https://twitter.com/dailynews360