अमित शाह ने बंगाल को लेकर बड़ा ऐलान किया है। आज केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने पश्चिम बंगाल के कोलकाता से सीएए, कश्‍मीर, राम मंदिर, श्‍यामा प्रसाद मुखर्जी के बहाने वहां की मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी पर जबरदस्त हमला बोला है। ममता बनर्जी के गढ़ कोलकता में अमित शाह ने कहा कि देश के बनाए नागरिकता संशोधन कानून का टीएमसी सुप्रीमो विरोध कर रही हैं लेकिन हम इस कानून से पीछे नहीं हटेंगे। उन्‍होंने कहा कि राज्‍य में आगामी चुनाव में बीजेपी दो तिहाई बहुमत से सरकार बनाएगी। 

अमित शाह ने कहा, 'ममता बनर्जी जब विपक्ष में थीं तो उन्‍होंने शरणार्थियों के लिए नागरिकता का मुद्दा उठाया था। जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सीएए ले आए तो वह एकबार फिर से कांग्रेस और वामपंथियों के साथ विरोध में खड़ी हैं। ममता बनर्जी अल्‍पसंख्‍यकों में भय पैदा कर रही हैं कि वे अपनी नागरिकता खो देंगे। मैं अल्‍पसंख्‍यक समुदाय के सभी लोगों को आश्‍वासन देता हूं कि सीएए केवल नागरिकता देगा और किसी से यह वापस नहीं लेगा। यह किसी भी तरह से आपको प्रभावित नहीं करेगा।' 

कोलकाता के शहीद मैदान में सीएए के समर्थन में आयोजित रैली में शाह ने कहा, 'पश्चिम बंगाल चुनाव में बीजेपी की पूर्ण बहुमत से सरकार बनेगी। बंगाल में जब प्रचार करने आए थे तो हमें प्रचार नहीं करने दिया गया। गोलियां चलाई गईं, हेलिकॉप्‍टर नहीं उतरने दिया गया। 40 से अधिक कार्यकर्ताओं की जान चली गई। ममता जी यह करके आप रोक पाई क्‍या। आप जो करना चाहती हैं, कर लीजिए। आपका रवैया जनता समझ चुकी है। यह रैली ममता और उनकी पार्टी के गुंडों के खिलाफ रैली है। बीजेपी एक अभियान लेकर न‍िकल रही है आरनायअनाय (अब अन्‍याय सहन नहीं करेंगे)। यह नारा पश्चिम बंगाल में सरकार पलटने का नारा है।'

केंद्रीय गृहमंत्री ने कहा, 'जब हम पश्चिम बंगाल में चुनाव के मैदान में थे तो ममता दीदी कहती थीं, जमानत बचा लेना। ममता बनर्जी ये आंकड़े देख लीजिए, अब आने वाले विधानसभा चुनाव में भी पूर्ण बहुमत के साथ बीजेपी की सरकार बंगाल में बनने वाली है। वर्ष 2014 में बीजेपी को 87 लाख वोट मिले और वर्ष 2019 में यह संख्‍या बढ़कर 2.3 करोड़ हो गई। राज्‍य से 18 बीजेपी सांसद चुने गए हैं।'

उन्‍होंने कहा, 'यह जो यात्रा चली है, रुकने वाली नहीं है। यह यात्रा जो 18 सीटों तक पहुंची है, विधानसभा में दो तिहाई बहुमत के साथ बीजेपी की सरकार बनाकर समाप्त होने वाली है। ये यात्रा बीजेपी के विकास की नहीं है, बल्कि यह यात्रा पश्चिम बंगाल के विकास की यात्रा है। यह यात्रा पश्चिम बंगाल के गरीब के शोषण के खिलाफ संघर्ष की है। यह यात्रा सिंडीकेट को समाप्त करने की यात्रा है। यह यात्रा टोलबाजी समाप्त करने की यात्रा है। यह यात्रा घुसपैठ समाप्त करने की है। यह यात्रा करोड़ों शरणार्थियों को नागरिकता देकर सम्मान देने की है।

अब हम twitter पर भी उपलब्ध हैं। ताजा एवं बेहतरीन खबरों के लिए Follow करें हमारा पेज : https://twitter.com/dailynews360