केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने शनिवार को दिल्ली के पंजाबी बाग इलाके में दक्षिण दिल्ली नगर निगम (एसडीएमसी) की ओर से बनाए गए बेहद आकर्षक भारत दर्शन पार्क (Bharat Darshan Park) का उद्घाटन किया। उद्घाटन समारोह में उप-राज्यपाल अनिल बैजल, दक्षिणी दिल्ली से सांसद रमेश बिधूड़ी, पश्चिमी दिल्ली से सांसद प्रवेश वर्मा, दक्षिण दिल्ली नगर निगम के महापौर मुकेश सूर्यान, भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष आदेश गुप्ता (Adesh Gupta), भाजपा नेता मनजिंदर सिंह सिरसा और अन्य लोग उपस्थित रहे।

एसडीएमसी (SDMC) ने शनिवार को एक प्रेस विज्ञप्ति में कहा, एसडीएमसी ने ‘वेस्ट टू वेल्थ’ की अवधारणा को आगे बढ़ाते हुए पंजाबी बाग में इस आकर्षक और शानदार पार्क का निर्माण किया है। यह भारत का पहला ऐसा पार्क है, जिसमें स्क्रैप और वेस्ट से भारत के विभिन्न राज्यों की 22 ऐतिहासिक तथा सांस्कृतिक स्मारकों और कलाकृतियों की अनुकृतियों को सुंदर रूप में प्रदर्शित किया गया है। यहां वेस्ट टू आर्ट के अंतर्गत 21 प्रसिद्ध ऐतिहासिक स्मारकों तथा एक वट वृक्ष को निगम स्टोर में व्यर्थ पड़े कबाड़ तथा लोहे के खराब सामान, बिजली के खंबे, पुरानी कारें, पार्कों की ग्रिल, ऑटोमोबाइल पार्ट, और लोहे के पाइप जैसी अनुपयोगी वस्तुओं से बनाया गया है। 

एसडीएमसी (SDMC) के मुताबिक 8.5 एकड़ के प्लॉट में बनाए गए इस मनमोहक पार्क में ताजमहल, कुतुबमीनार, चारमीनार, गेटवे ऑफ इंडिया, अजंता ऐलोरा की गुफा, कोणार्क मंदिर, खजुराहो का मंदिर, सांची स्तूप, नालंदा विश्वविद्यालय, मैसूर पैलेस, हम्पी, गोल गुम्बज, मीनाक्षी मंदिर, हवा महल, जूनागढ़ फोर्ट, विक्टोरिया मैमोरियल, तवांग गेट, रामेश्वरम्, द्वारकाधीश, जगन्नाथ पुरी, बद्रीनाथ और वट वृक्ष को मिला कर कुल 22 ऐतिहासिक तथा सांस्कृतिक स्मारकों की कलाकृतियां उकेरी गईं हैं। निगम ने बताया कि 20 करोड़ रुपये की लागत से इस पार्क के निर्माण कार्य में लगभग 350 टन स्क्रैप का इस्तेमाल हुआ है। कलाकृतियों को आठ कलाकारों, 22 सहायक कलाकारों तथा लगभग 150 कारीगरों ने मिलकर तैयार किया है। 

कोरोना महामारी (corona pandemic) के प्रभाव के बावजूद पार्क को लगभग 22 महीने में बनाया गया। पर्यावरण और सौर ऊर्जा उत्पादन के मद्देनजर पार्क में पांच सोलर ट्री (प्रत्येक पांच किलोवाट) तथा 84 किलोवॉट का रूफटॉप सोलर पैनल लगाया गया है। पार्क में ङ्क्षसचाई जल आपूर्ति के लिए एक लाख लीटर क्षमता का दूषित जल शोधन संयत्र (एसटीपी) लगाया गया है। इसके अलावा कलाकृतियों को बेहतरीन तरीके से अलंकृत किया गया है, जिसमें 755 फसाड लाइट, तीन एलईडी स्क्रीन, 600 बोलार्ड लाइट, एक डीजी सैट, 102 कम्पाउंड लाइट और 51 सीसीटीवी कैमरा लगाए गए हैं। पार्क की सुंदरता बढ़ाने के लिए लगभग 12 हजार शोभाकारी वृक्ष लगाए गए हैं, जिसमें चम्पा, टिकोमा, लार्जस्टोमिया, फाइकस बैनजामिना और कचनार शामिल हैं।