जसजस आवश्यक दि 28 भारत- चीन शाह अरुणाचल शाह की अरुणाचल प्रदेश यात्रा पर चीन के विरोध को भारत ने खारिज किया नयी दिल्ली, 20 फरवरी (वार्ता) 

भारत ने केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह की अरुणाचल प्रदेश की यात्रा पर चीन के ऐतराज को खारिज करते हुए दोहराया कि अरुणाचल प्रदेश भारत का अखंड एवं अविभाज्य हिस्सा है तथा भारतीय नेताओं के देश के किसी राज्य के दौरे पर बाहरी देश के आपत्ति करने का कोई कारण नहीं बनता है। 

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने यहां नियमित ब्रीफिंग में चीन के बयान पर प्रतिक्रिया पूछे जाने पर कहा, अरुणाचल प्रदेश पर हमारा रुख स्पष्ट एवं सतत है। अरुणाचल प्रदेश भारत का एक अखंड एवं अविभाज्य हिस्सा है। भारतीय नेता अरुणाचल प्रदेश में नियमित रूप से उसी प्रकार से जाते हैं जैसे अन्य राज्यों में। भारतीय राजनेताओं की भारत के किसी राज्य में यात्रा पर आपत्ति करने हमें का कोई कारण और औचित्य नहीं लगता है। 

शाह की यात्रा पर चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गेंग शुआंग ने आपत्ति जताते हुए कहा कि चीन अरुणाचल प्रदेश को मान्यता नहीं देता है और चीन के तिब्बत क्षेत्र के दक्षिणी भाग में भारतीय राजनेता की यात्रा चीन की प्रादेशिक संप्रभुता का उल्लंघन है। गौरतलब है कि ना सिर्फ अरुणाचल प्रदेश बल्कि चीन से सटे कई अन्य इलाकों में भी वहां की सेना घुसपैठ करती आई है, जिस वजह से भारत और चीनी सेना कई बार आमने-सामने आ चुकी हैं। अरुणाचल प्रदेश के अलावा उत्तराखंड और लद्दाख में कई बार दोनों सेनाओं का आमना-सामना हुआ है। भारत और चीन की करीब 3488 किमी. सीमा एक दूसरे से सटती है, जिसे लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल कहा जाता है।

अब हम twitter पर भी उपलब्ध हैं। ताजा एवं बेहतरीन खबरों के लिए Follow करें हमारा पेज :  https://twitter.com/dailynews360