केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने शनिवार को सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) के संसदीय क्षेत्र आजमगढ़ में सपा सहित अन्य विरोधी दलों को घेरते हुये कहा कि चुनाव करीब आते ही सपा मुखिया को भारत के बंटवारे के जिम्मेदार मोहम्मद अली जिन्ना (Mohammad Ali Jinnah) महान दिखने लगते हैं। 

शाह ने आजमगढ़ में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Chief Minister Yogi Adityanath) के साथ राजकीय विश्वविद्यालय (state university) की आधारशिला रखने के बाद जनसभा को संबोधित करते हुये अखिलेश पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि इस जनसभा में अल्पसंख्यक समुदाय के तमाम लोग होंगे, लेकिन क्या कोई एक भी व्यक्ति ऐसा है जो जिन्ना को महान मानता हो? 

उन्होंने अखिलेश  (Akhilesh Yadav)  पर अपने राजनीतिक हित साधने के लिये धार्मिक तुष्टीकरण के हथकंडे अपनाने का आरोप लगाते हुये कहा कि पाकिस्तान बनवाने वाले जिन्ना को इस देश में कोई महान नहीं मान सकता है। शाह ने राज्य में योगी सरकार के कामों की तारीफ करते हुये कहा कि उनके सुशासन का ही परिणाम है कि आजमगढ़ मच्छर और माफिया से मुक्त हो गया है। उन्होंने कहा कि सपा और भाजपा के लिये सत्ता संचालन के तरीके एवं विकास के मायने अलग अलग हैं। शाह ने कहा कि अंग्रेजी के जेएएम की यहां खूब चर्चा होती थी। उनके (सपा) लिये जेएएम का मतलब जिन्ना, आजम खान और मुख्तार होता था लेकिन हमारे लिये जेएएम का मतलब जनधन, आधार और मोबाइल फोन है। उल्लेखनीय है कि शाह उत्तर प्रदेश के पूर्वांचल क्षेत्र के दो दिवसीय दौरे पर शुक्रवार को वाराणसी पहुंचे थे। इस क्रम में शनिवार को उन्होंने आजमगढ़ में राजकीय विश्वविद्यालय की आधारशिला रखी। यहां से वह योगी के साथ बस्ती में सांसद खेल महाकुंभ का शुभारंभ करने के लिये रवाना हो गये।