उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनावों (UP assembly elections) से पहले केन्द्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री अमित शाह (Amit Shah) आक्रामण मूड में आ चुके हैं। अलीगढ़ के अतरौली पहुंचे अमित शाह के निशाने पर समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) रही। उन्होंने कहा कि अब यूपी में माफिया ढूंढने में तीन जगह दिखते हैं। गुंडे जेल में हैं या प्रदेश से बाहर। कहा कि अभी जो सपा ने प्रत्याशियों की सूची जारी की है उसमें भी मफिया देखने को मिलेंगे।

समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) पर निशाना साधते हुए अमित शाह ने कहा कि अखिलेश बाबू टीके का विरोध करते थे कि ये भाजपा का टीका है हम नहीं लगवाएंगे, उन्होंने देश जनता को गुमराह करने का प्रयास किया। लेकिन बाद में खुद भी टीका लगवा लिया। अगर लोग उनकी बात मानकर टीका नहीं लगवाते तो क्या कोरोना की तीसरी लहर में बच पाते? शाह बोले अब अखिलेश अन्न की पोटली लेकर निकलते हैं। यह परिवार का भला करते हैं, कुछ दिन पहले यहां एक रेड हुई, जिसमें 250 करोड़ रुपये मिले। अब वह बताएं कि इत्र कारोबारी (UP perfume trader) के यहां क्या रिश्ता है, अगर रिश्ता नहीं है तो फिर दर्द क्यों हो रहा है।

उन्होंने कहा कि बुआ, भतीजा सपा बसपा प्रदेश का भला नहीं कर सकते। इन्होंने बीमारू प्रदेश बनाया, यहां अब डबल इंजन की सरकार है। अब गरीब के घर में टॉयलेट है, हर घर में बिजली है। यह प्रधानमंत्री (PM Modi) व सीएम (Yogi Adityanath) की मेहनत का फल है। गृहमंत्री बोले, अलीगढ़ के ताले की फैक्ट्री में बुआ-भतीजा की सरकार ने ताला लगा दिया था। उन्होंने कहा, भाजपा सरकार के एक जिला-एक उत्पाद के तहत यहां के ताला उद्योग को बढ़ावा दिया गया। अब ताला बनाने की सैकड़ों फैक्ट्री यहां फिर से शुरू हो गई हैं।