कर्नाटक में सभी मुस्लिम संस्थाओं के शीर्ष ‘‘ अमीर-ए-शरियत’’ ने हिजाब मामले में कर्नाटक उच्च न्यायालय के फैसले पर राज्य में गुरुवार को बंद का आह्वान किया है। अमीर-ए-शरियत ने सभी मुस्लिम संस्थाओं से किसी भी दुकान को जबरदस्ती बंद किेए बिना शांतिपूर्ण प्रदर्शन करने का आह्वान किया। 

ये भी पढ़ेंः उग्रवादी संगठन एचएलएलसी के साथ ऐसा काम करने जा रही है इस राज्य की सरकार


इसी बीच, उडुपी के गवर्नमेंट प्री-यूनिवर्सिटी गर्ल्स कॉलेज की जिन छह मुस्लिम छात्राओं की याचिका अदालत ने खारिज कर दी, वे बुधवार को कक्षा में उपस्थित नहीं रहीं। कर्नाटक उच्च न्यायालय ने अपने आदेश में कहा था कि हिजाब इस्लाम में अनिवार्य धार्मिक प्रथा नहीं है, इसलिए छात्राओं को सरकार द्वारा निर्देशित ड्रेस कोड का पालन करना होगा। 

ये भी पढ़ेंः कांग्रेस के मुख्यमंत्री ने दिखाई हिम्मत, कहाः सभी विधायकों के साथ देखने जाऊंगा कश्मीर फाइल्स मूवी


शिवमोग्गा जिले में 15 मुस्लिम छात्राएं हिजाब पहनकर कालेज पहुंचीं, लेकिन उन्हें परिसर में प्रवेश नहीं करने दिया गया। अंतत: छात्राओं को घर लौटना पड़ा। उल्लेखनीय है कि सर्वोच्च न्यायालय ने बुधवार को हिजाब मामले में कर्नाटक उच्च न्यायालय के फैसले को चुनौती देने वाली याचिकाओं को स्वीकार किया है।