सोशल मीडिया पर #BoycottAmazon ट्रेंड कर रहा है। ट्विटरबाज #BoycottAmazon के साथ लिख रहे हैं कि इस ऑनलाइन शॉपिंग वेबसाइट को बैन किया जाए। तो आइए बताते हैं कि आखिर क्यों सोशल मीडिया पर अमेजन को बैन करने की मांग की जा रही है। असल में अमेजन पर हिंदू की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने का आरोप है। अमेजन अपनी वेबसाइट पर फुटमैच और टॉयलेट सीट बेच रहे हैं, जिसपर हिन्दू देवी-देवताओं की तस्वीर लगी हुई है। सोशल मीडिया पर लोग इन्हीं तस्वीरों को शेयर कर इस बायकॉट करने की मांग कर रहे हैं।

#BoycottAmazon ट्विटर पर टॉप ट्रेंड कर रहा है। अमेजन द्वारा बेचे जा रहे फुटमैट और टॉयलेट सीट पर ज्यादातर भगवान शिव की तस्वीर दिख रही है। इसके अलावा चप्पलों पर भी भगवान शिव और भारत के राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की तस्वीर दिख रही है। सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है कुछ तस्वीरों में यह भी दिख रहा है कि कुछ जूतों और चप्पलों पर तिरंगा भी है। हालांकि ये तस्वीरें 2018 की है। लेकिन भगवान शिव की तस्वीरें साल 2019 की है।


अमेजन की इस हरकत की खबर जैसे ही यूजर्स को पता लगी भारत में उसका जमकर विरोध किया जा रहा है। लोग अमेजन से खरीदी गई चीजें लौटा रहे हैं। सोशल मीडिया पर इसके खिलाफ अभियान चलाया जा रहा है। यहां तक की सोशल मीडिया पर लोगों को ये भी कहा जा रहा है कि आप अमेजन की अमेजन प्राइम वीडियो के ऐप को भी मत डाउनलोड कीजिए। अमेजन के विरोध में लोग अमेजन के ऐप को अनइंस्टॉल कर के उसका स्क्रीनशॉट शेयर कर रहे हैं। लोग लिख रहे हैं कि अमेजन पहले भी ऐसा कर चुका है और जो इस बार जो किया है वो एकदम हद के बाहर है।


2017 और 2018 में भी अमेजन ने किया था ऐसा

ऐसा पहली बार नहीं है, जब ऑनलाइन शॉपिंग वेबसाइट अमेजन ने ऐसी हरकत की है। अमेजन ने इससे पहले चप्पलों और डोरमैट पर भारत के राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की तस्वीर लगाई थी। हालांकि सोशल मीडिया पर हुए विरोध के बाद उस वक्त अमेजन ने अपनी वेबसाइट से उक्त प्रोडक्ट को हटा लिया था। लेकिन भगवान शिव वाले डोरमैट बेचने पर अमेजन ने अभी तक किसी तरह की कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है।