कोरोना वैक्सीनेशन के लिहाज से सोमवार का दिन देश के लिए ब्लॉकबस्टर साबित हुआ है। सोमवार को पूरे देश में 85,15,765 वैक्सीन डोज लगाए गए जो एक रिकॉर्ड है। इससे पहले एक दिन में सर्वाधिक 43 लाख वैक्सीनेशन हुआ था। सरकारी अधिकारियों का कहना है कि 85 लाख की संख्या दुनिया में एक दिन में किए गए कोरोना वैक्सीनेशन का विश्व रिकॉर्ड भी है।

भारत ने आज लगभग इजरायल के बराबर जनसंख्या का वैक्सीनेशन किया है। वहीं न्यूज़ीलैंड की जनसंख्या के दोगुने का वैक्सीनेशन किया गया है। आज से ही देश में केंद्रीय फ्री वैक्सीनेशन कार्यक्रम की शुरुआत की गई है। अब केंद्र सरकार की तरफ से राज्यों को सभी आयु समूहों के लिए मुफ्त वैक्सीन मुहैया कराई जा रही है।

केंद्र सरकार के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया है-आज की रिकॉर्ड संख्या बताती है कि अगर कुशल प्रबंधन किया जाए तो क्या हासिल किया जा सकता है। इतनी बड़ी संख्या में वैक्सीनेशन केंद्र सरकार के कुशल मॉडल और ग्राउंड पर राज्य सरकारों के सहयोग की वजह से हासिल किया जा सका है। अब वैक्सीन की पर्याप्त सप्लाई की जा रही है। अब ये राज्य सरकारों पर कि वो अपने संसाधनों का इस्तेमाल कर वैक्सीनेशन की रफ्तार बढ़ाएं। कुछ राज्यों में अभी तक तेजी नहीं आ पाई है।

अधिकारियों ने यह भी इशारा किया कि वैक्सीनेशन में एनडीए शासित राज्यों ने शानदार प्रदर्शन किया है। कुल वैक्सीनेशन का 70 फीसदी एनडीए शासित राज्यों ने किया है। ये आंकड़े देश के उस लक्ष्य के प्रति उम्मीद जगाते हैं जिसके तहत दिसंबर तक सभी का वैक्सीनेशन किया जाना है।

आज 18-44 आयु समूह में 55 लाख वैक्सीनेशन किया गया है। ये इशारा करता है कि इस आयु समूह ने अब वैक्सीन सप्लाई ठीक होने के बाद वैक्सीनेशन में खासी दिलचस्पी दिखाई है। कुल वैक्सीनेशन का 50 फीसदी आंकड़ा बीजेपी शासित पांच राज्यों उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, कर्नाटक, गुजरात और हरियाणा से है। मध्य प्रदेश ने करीब 15 लाख वैक्सीनेशन किए हैं जो निर्धारित लक्ष्य 10 लाख से कहीं ज्यादा है।

इन सभी राज्यों ने आज के लिए अलग से बड़ी संख्या में वैक्सीनेशन सेंटर बनाए थे। आज पूरे देश में करीब 68 हजार केंद्रों पर वैक्सीनेशन किया गया है। इनमें यूपी में 8500 तो कर्नाटक और मध्य प्रदेश में करीब 8 हजार सेंटर्स थे। हरियाणा ने 2.5 लाख का लक्ष्य तय किया था लेकिन 4।7 लाख वैक्सीनेशन हुआ। गुजरात में करीब 5 लाख वैक्सीनेशन हुआ। कर्नाटक में 10 लाख वैक्सीनेशन हुआ तो वहीं उत्तर प्रदेश में 6.6 लाख वैक्सीनेशन हुआ।