पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने राज्य में कोविड-19 की दूसरी लहर से निपटने के लिए अगले आदेश तक राज्य में सभी उपनगरीय ट्रेन सेवायें स्थगित कर दी गयी हैं और वाहनों की आवाजाही आधी कर दी गयी है। कोरोना की दूसरी लहर पिछले वर्ष की तुलना में ज्यादा घातक साबित हो रही है। राज्य के स्वास्थ्य विभाग के बुधवार के ताजा बुलेटिन में बताया गया कि इस महामारी से कल 103 लोगों की जान चली गयी और 18,102 नये मामले सामने आए हैं। 

राज्य में कोरोना वायरस संक्रमण के सक्रिय मामलों की संख्या वर्तमान में 1,12,872 है। पिछले 24 घंटों में उत्तर 24 परगना में कोरोना वायरस संक्रमण से 27 लोगों की मौत हुई और कोलकाता में 25 संक्रमितों की जान चली गयी। राज्य सरकार की सलाह के आधार पर सभी स्थानीय, उपनगरीय और ईएमयू ट्रेन सेवाओं को छह मई से अगले आदेश तक स्थगित कर दिया गया है। भारतीय रेलवे ने एक विज्ञप्ति में कहा गया है कि अन्य विशेष ट्रेनें, पार्सल ट्रेनें और मालगाड़यिां निर्धारित समय के अनुसार चलती रहेंगी। 

इसके अलावा यात्री बसों सहित कुछ वाहन सड़कों पर चलते नजर आए और हावड़ा और सियालदह स्टेशनों पर स्थानीय ट्रेनों के स्थगित होने पर गंगा घाटों पर सन्नाटा पसरा रहा। उन्होंने बताया कि कोविड से निपटने के लिए नए आदेश जारी किए गए उनमें कल से स्थानीय ट्रेनों को स्थगित किया गया है। राज्य परिवहन सेवा 50 फीसदी यात्रियों के साथ चलेंगी। सात मई के मध्य रात्रि के बाद कोई हवाई यात्रा करने से पहले यात्री को 72 घंटे पहले की आरअीपीसीआर रिपोर्ट साथ में रखनी होगी। स्थानीय, राजनीतिक, समुदाय या किसी भी अन्य सभा में 50 फीसदी से अधिक लोग शामिल नहीं हो सकेंगे। 

हॉकर, ट्रांसपोर्टर, पत्रकारों को पहली खुराक (टीका) के लगाने में प्राथमिकता दी जाएगी। आदेश में कहा गया है कि आवश्यक वस्तुओं की होम डिलीवरी के लिए प्रोत्साहित किया जाना चाहिए, मॉल, सिनेमा, रेस्तरां, बार, स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स, जिम, पूल अगले आदेश तक बंद रहेंगे। राज्य में लोगों को घर से बाहर निकलने पर मास्क लगाना अनिवार्य होगा और सामाजिक दूरी बनाए रखनी होगी।