बांग्लादेश में हिंदुओं पर लगातार हो रहे हमलों के विरोध में अब एक मुस्लिम संगठन उतर चुका है। राजस्थान में अजमेर स्थित सूफी संत ख्वाजा मोइनुद्दीन हसन चश्तिी की दरगाह के दीवान के उत्तराधिकारी और ऑल इंडिया सूफी सज्जादानशीन काउंसिल के चेयरमैन सैयद नसीरुद्दीन चश्तिी इन हमलों की निंदा की है। उन्होंने कहा है कि बंगलादेश में दुर्गा पूजा के दौरान हिंदुओं पर हुए हमले को शर्मनाक और गैर इस्लामिक हैं। उन्होंने कहा कि ऐसा करने वाले इस्लाम के दुश्मन हैं और बांग्लादेश सरकार को दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करनी चाहिए।


यह भी पढ़ें— Diwali Bonus: कर्मचारियों को दिवाली से पहले मिलेगा बोनस, जानिए कितनी आएगी सैलरी

नसीरुद्दीन चश्तिी ने अपने बयान में कहा कि इस्लाम में शांति और सहिष्णुता का पालन किया जाता है। मंडपों, पांडालों और मंदिरों पर हमला अति निंदनीय है। यह कायरता पूर्ण कृत्य पैगंबर साहब की शिक्षा के खिलाफ है जिसकी वह कड़ी भर्त्सना करते है।

नसीरुद्दीन चश्तिी ने कहा कि इन घटनाओं को जिन्होंने अंजाम दिया है, वे इस्लाम के असली दुश्मन हैं। उन्होंने कहा कि इस्लाम के नाम पर हिंसा कायरतापूर्ण है। यह इस्लाम की भावना और पैगंबर मोहम्मद की शिक्षा के खिलाफ है। इस्लाम धर्म के नाम पर हिंसा को कभी जायज नहीं ठहराता है।