ब्रह्मांड में ऐसे कई रहस्य छिपे हैं, जिनके विषय में सालों से रिसर्च की जा रही है। इन्ही रहस्यों में से एक है दूसरे ग्रह पर जीवन या एलियंस का होना। लंबे समय से दुनिया के कई वैज्ञानिक इस बात की खोज करने में जुटे हैं कि कहीं किसी अन्य ग्रह पर जीवन है या नहीं? 

वैज्ञानिक अलग-अलग तरीकों से इस बात का पता लगा रहे हैं। इस बीच अब नासा के वैज्ञानिकों ने खुलासा किया है कि उनके द्वारा अंतरिक्ष में भेजे गए स्पेसक्राट ने करोड़ों मील दूर से आ रही आवाजों को रिकॉर्ड किया है। ये आवाजें एलियंस की हो सकती है जो शायद पृथ्वी से कांटेक्ट करना चाहते थे। आज तक अंतरिक्ष में स्पेसक्राट के अलावा और कोई भी मानव द्वारा बनाई चीज नहीं जा पाई है। 1977 में नासा ने जुपिटर और सैटर्न के पास उड़ने के लिए दो वॉयजर स्पेसक्राट लॉन्च किये थे। ये 2012 में स्पेस के पार चली गई थी और वहां से तब से लेकर अब तक वो डाटा कलेक्ट कर रहा है। इनमें से वॉजर-1 ने कई तरह की आवाजें रिकॉर्ड की, जिसे एलियन की आवाज कहा जा रहा है। स्पेसक्राट ने करोड़ों मील दूर से आती आवाजों को रिकॉर्ड किया है।

स्पेसक्राट से जो आवाजें आ रही हैं, उन्हें रिसर्चर्स ने एलियन का बताया है। अभी ये स्पेसक्राट अंतरिक्ष के जिस हिस्से में है वो इंटरस्टेलर मीडियम कहा जाता है। यहीं से हम की आवाजें आ रही हैं। न्यूयॉर्क के कॉर्नेल यूनिवर्सिटी के रिसर्चर्स का कहना है कि इस एरिया में किसी अन्य इंसानी ऑब्जेक्ट्स का होना नामुमकिन है। ऐसे में अगर ये आवाजें आई हैं, तो ये एलियंस की कोशिश हो सकती है इंसानों से कांटेक्ट करने की। वॉजर-1 और 2 कई सालों से अंतरिक्ष के चक्कर मार रहे हैं। इनका काम है अंतरिक्ष में हो रही गतिविधि रिकॉर्ड करना। इन्हीं में ये आवाजें रिकॉर्ड की गई है। सैटर्न और ज्यूपिटर जैसे ग्रहों में से आवाजें रिकॉर्ड की जा रही हैं। अगर ये सच है तो वाकई वैज्ञानिकों के हाथ एलियंस को लेकर बड़ा सबूत हाथ लग गया है।