भारत और चीन की सेनाओं के बीच लद्दाख की गलवान घाटी में हुए हिंसक झड़पों के बाद हिमाचल प्रदेश के किन्नौर जिले की चीन के साथ लगती अंतरराष्ट्रीय सीमा पर अलर्ट घोषित किये जाने के बाद स्थिति पर कड़ी नजर रखी जा रही है हालांकि क्षेत्र में फिलहाल शांति बनी हुई है।


जिला उपायुक्त गोपाल शर्मा ने आज यह जानकारी देते हुये बताया कि सीमा पर पूरी नजर रखी जा रही है और फिलहाल वहां शांति है तथा तनाव वाली कोई स्थिति नहीं है। उन्होंने कहा कि एहतियात के तौर पर सीमा के साथ लगते थानों, चौकियों तथा एसडीएम को किसी भी स्थिति से निपटने के लिए तैयार रहने के आदेश जारी किये गये हैं।


इन क्षेत्रों में अलर्ट घोषित किया गया है। उल्लेखनीय है कि राज्य के किन्नौर जिले के समधू, नामज्ञा, नेसंग, कुनो-चारंग, छितकुल आदि क्षेत्रों की सीमाएं चीन के साथ लगती है। ऐसे में कोरिक, शिपकिला, कुनो-चारंग, नेसंग और धूमती आदि स्थानों पर भारत तिब्बत सीमा पुलिस (आईटीबीपी) और सेना की चौकियां स्थापित है। लद्दाख में भारत और चीन की सेनाओं के बीच हिंसक झड़पें तथा सम्बंध तनावपूर्ण होने के बाद भारतीय सीमांत क्षेत्रों में सेना की गतिविधियां देखी जा रही है।



सेना और आईटीबीपी के कई वाहनों को सीमाओं की ओर जाते तथा वहां मोर्चाबंदी करते देखा गया है।