यूपी में होने वाले विधानसभा चुनाव (Assembly elections in UP) को लेकर मुख्य विपक्षी दल सपा जोर-शोर से जुटी हुई है. पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav ) प्रदेश भर में रथ यात्रा निकालकर अपने पक्ष में माहौल बना रहे हैं. उधर विधानसभा चुनाव लड़ने को लेकर अखिलेश यादव ने बड़ा एलान किया है. अखिलेश ने सोमवार को कहा कि वो (Akhilesh not contest the assembly elections) विधानसभा चुनाव नहीं लड़ेंगे.

इसके अलावा अखिलेश ने रालोद के साथ गठबंधन (Akhilesh alliance with RLD) को लेकर भी टिप्पणी की है. अखिलेश ने कहा कि रालोद के साथ गठबंधन और सीटों के बंटवारे पर विचार विमर्श किया जाना है, जल्द ही इस पर फैसला लिया जाएगा. बतादें कि अखिलेश अभी आजमगढ़ से (Akhilesh is currently the Lok Sabha MP from Azamgarh) लोकसभा सांसद हैं.

चुनाव में चाचा शिवपाल यादव की प्रगतिशील समाजवादी पार्टी लोहिया (Shivpal Yadav's Pragatisheel Samajwadi Party Lohia ) को साथ लेने की संभावना पर अखिलेश ने कहा, मुझे इसमें कोई समस्या नहीं है. उन्हें और उनके लोगों को उचित सम्मान दिया जाएगा. दरअसल, अखिलेश यादव अपना पूरा फोकस विधानसभा चुनाव की तैयारियों पर रखना चाहते हैं. शायद यही वजह है कि अखिलेश ने विधानसभा चुनाव नहीं लड़ने का फैसला किया है.

उधर, अखिलेश यादव यूपी की योगी सरकार (Yogi government ) पर लगातार हमलावर हैं. हरदोई में रविवार को एक रैली में अखिलेश ने कहा कि मुख्यमंत्री के दो ही काम हैं. एक सपा के कामों के नाम बदलना और दूसरा शौचालय बनवाना. अखिलेश ने कहा कि यूपी सरकार सपा सरकार के कार्यों के उद्घाटन और शिलान्यास कर रही है. अखिलेश ने कहा कि योगी जी कमाल के मुख्यमंत्री हैं, जिन्होंने अपने किसी काम का उद्घाटन नहीं किया है.