समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव (akhilesh yadav) ने सोमवार को मैनपुरी कीे करहल विधानसभा (Karhal Assembly) से अपना नामांकन किया है। अपने पैतृक गांव इटावा के सैफई से करहल विधानसभा सीट के लिए नामांकन कराने को मैनपुरी के लिए रवाना होने के लिए अखिलेश यादव विजय रथ पर सवार होकर कलेक्ट्रेट पहुंचे। वहीं सपा प्रमुख अखिलेश यादव के खिलाफ भाजपा ने केंद्रीय मंत्री व आगरा से सांसद एसपी सिंह बघेल (SP Singh Baghel) को करहल से उम्मीदवार बनाया। बता दें कि सिंह पूर्व रक्षा मंत्री मुलायम सिंह यादव की सुरक्षा में सब इंस्पेक्टर के पद पर तैनात रह चुके हैं। बता दें कि एसपी बघेल साल 2009 में फिरोजाबाद से अखिलेश यादव  (akhilesh yadav) के खिलाफ और डिंपल यादव के खिलाफ उपचुनाव में भी लड़ चुके हैं। इस दौरान उन्होंने साल 2014 में फिरोजाबाद से अक्षय यादव के खिलाफ भी चुनाव लड़ा था।

इससे पहले सैफई से करहल के बीच करीब 30 किमी की दूरी पर अखिलेश  (akhilesh yadav) का जगह जगह गर्मजोशी से स्वागत किया गया। रथ पर सवार सपा अध्यक्ष हाथ हिला कर जनता का अभिवादन करते रहे। करीब एक बजे मैनपुरी कलेक्ट्रेट पहुंचे और अपना नामांकन दाखिल किया। अखिलेश यादव इटावा के सैफई से विजय रथ पर सवार होकर दिन में करीब एक बजे मैनपुरी कलेकट्रेट (Mainpuri Collectorate) पहुंचे। उनके साथ करहल में उनके चुनाव प्रबंधन की कमान संभाल रहे पूर्व सांसद तेज प्रताप यादव उर्फ तेजू और करहल के विधायक सोबरन सिंह यादव (Sobran Singh Yadav) भी थे। 

सोबरन सिंह यादव (Sobran Singh Yadav) उनके नामांकन पत्र दाखिल करने के दौरान कमरे में थे। इसके साथ ही पार्टी के प्रमुख राष्ट्रीय महासचिव राज्यसभा सदस्य प्रोफेसर रामगोपाल यादव (Ram Gopal Yadav) भी मौजूद रहे। इससे पहले अखिलेश यादव (akhilesh yadav) ने सोमवार को सुबह एक ट्वीट भी किया। सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव के पहली बार करहल से विधानसभा का चुनाव लडऩेे के निर्णय के बाद से ही मैनपुरी में सियासी माहौल बेहद गरम हो गया। मैनपुरी से पूर्व सांसद तेज प्रताप उनके चुनाव का संचालन कर रहे हैं, जबकि मैनपुरी से सांसद समाजवादी पार्टी के सरंक्षक मुलायम सिंह यादव की निगाह भी यहां लगी है। सैफई से सोमवार की सुबह नामांकन दाखिल करने के लिए अखिलेश निकले तब जगह-जगह उनका कार्यकतार्ओं ने स्वागत किया। अखिलेश यादव (akhilesh yadav) करहल कस्बा होते हुए मैनपुरी पहुंचे हैं। कलक्ट्रेट तक पहुंचने के दौरान कार्यकतार्ओं की भीड़ उनका स्वागत कर रही है। करहल में चुनाव के तीसरे चरण में 20 फरवरी को मतदान होना है। कांग्रेस ने इस सीट से ज्ञानवती यादव को और बसपा ने कुलदीप नारायण को उम्मीदवार बनाया है।