समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष अखिलेश यादव ने दावा किया कि 2022 में उत्तर प्रदेश में उनकी पार्टी की सरकार बनना तय है क्योंकि जनता ने मन बना लिया। यादव ने अपने पैतृक गांव सैफई में कार्यकर्ताओं से मिलने के बाद पत्रकारो से कहा 2022 में यूपी विधानसभा के चुनाव में सपा की हर हाल में सरकार बनेगी। प्रदेश की जनता ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की सरकार को हराने का मन बना लिया है। बीजेपी ने अपने घोषणा पत्र के आधार पर कोई भी काम नहीं कर सकी है न कोई काम किया है। 

उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल के चुनाव की हार हर किसी ने देखी हैं जनता ने, भारतीय जनता पार्टी को बुरी तरीके से पछाड़ा है। बिहार, बंगाल चुनाव में जिस तरह से भाजपा ने बदनीयती से काम किया है वो सबने देखा है। जिसके लिए यूपी चुनाव में भी नेता कार्यकर्ता उसका डटकर मुकाबला करने के लिए तैयार है। शिवपाल यादव से गठबंधन की बात पर अखिलेश ने कहा कि जो छोटे दल पार्टी भाजपा को हराना चाहती है उसके लिए सपा ने रास्ता खोला है सब मिलकर भाजपा को हराएंगे। सपा की रणनीति भाजपा की घमंडी सरकार को सत्ता से बेदखल करना है जिसमें वह हर हाल में कामयाब होगी। 

बसपा नेता सतीश चन्द्र मिश्रा के प्रबुद्ध सम्मेलन करने के सवाल पर उन्होंने कहा है अच्छी बात है आये तो इटावा कस सफारी पार्क देखकर जाएं इटावा में सपा सरकार में कितना विकास हुआ है। सपा मुखिया ने सैफई में रक्षाबंधन के मौके पर आये हजारों की संख्या में पार्टी जनों के बीच बड़ा बयान दिया है और परोक्ष रूप से सोनिया गांधी पर तंज कसा है। असल सपा ने कांग्रेस बैठक का बायकॉट किया जिससे सपा की भूमिका पर सवाल उठने लगे हैं।  उन्होंने सोनिया गांधी के यहां मीटिंग में शामिल होने के सवाल पर कहा कि लगातार बैठकों का दौर चलेगा जो बैठक दिल्ली में विपक्षी नेताओं की बैठक हुई वह आने वाले लोकसभा चुनाव की थी, उससे पहले सबसे बड़ा चुनाव देश का उत्तर प्रदेश में होने वाला है। फिलहाल यूपी को देखने की अधिक जरूरत है। यादव ने कहा कि एटा, कानपुर देहात में बिजली का प्लांट लग रहा था लग जाता तो उत्तर प्रदेश को अतिरिक्त बिजली मिलती, भाजपा ने बिजली महंगी कर दी, सिलेंडर, सरसों के तेल की कीमत क्या है सब जानते हैं, इन्हीं मुद्दों पर चुनाव होना है। 

बिकरु कांड पर पुलिस को क्लीन चिट दिये जाने पर कहा कि जो भी एजेंसी जांच कर रही थी वह भले ही क्लीनचिट दे दे लेकिन जनता के जो मन में है, जो सच्चाई जानते हैं उनके दिल दिमाग से कैसे निकालोगे। अखिलेश यादव ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी घबराई हुई है अब नाराज साथियों को मनाने में लगी हुई है, उनसे सौदा कर रही है। यादव ने राहुल गांधी के सोशल मीडिया पर पोस्ट डिलीट करने के जवाब में कहा कि यह सब चुनाव तक सुनने में आता रहेगा। सपा मुखिया ने कहा कि सभी दलों ने बंगाल और बिहार की चुनावी हिंसा से सबक सीखा है उसका मुकाबला चुनाव स्तर पर नेता कार्यकर्ता करेगा।