ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन के चीफ असदुद्दीन ओवैसी  ने बुधवार को अनुच्छेद 370  और 35A पर बोलते हुए मोदी सरकार के फैसले पर हमला बोला है। ओवैसी ने आर्टिकल 370 को लेकर केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा, जिस तरह से कश्मीर में कर्फ्यू और बैन लगाए गए हैं, उससे हालात बहुत खराब हो गए हैं। AIMIM चीफ ने आगे कहा, मुझे यकीन है कि एक दिन मुझे भी गोली मार दी जाएगी, क्योंकि अभी इस देश में गोडसे की औलादें जिंदा हैं और वो ऐसा कर सकती हैं। 

आपको बता दें कि जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले संविधान के आर्टिकल 370 को हटाने के बाद विपक्ष के दल मोदी सरकार की आलोचना कर रहे हैं. ओवैसी यहीं नहीं चुप हुए उन्होंने आगे कहा कि मैं भारत का एक जनप्रतिनिधि हूं लेकिन क्या मैं अरुणाचल प्रदेश और लक्षद्वीप जा सकता हूं? क्या मैं असम के अनुसूचित क्षेत्रों में जमीन खरीद सकता हूं, मैं नहीं कर सकता। मैं नागालैंड, मिजोरम, मणिपुर, असम और हिमाचल के लोगों से कह रहा हूं कि वहां भी वहीं होगा, जो कश्मीर में हुआ है।

एक न्यूज एजेंसी बातचीत के दौरान असदुद्दीन ओवैसी ने ये बयान दिया। उन्होंने कहा, कश्मीर में इस वक्त आपातकाल जैसे हालात हैं, वहां ना तो फोन चालू हैं और ना ही लोगों को बाहर निकलने की आजादी दी जा रही है। पीएम मोदी को संवैधानिक प्रक्रिया के तहत फैसला लेना चाहिए और वहां से कर्फ्यू हटाया जाना चाहिए। जब ओवैसी से यह पूछा गया कि उनपर इस तरह के आरोप लग रहे हैं कि उनके भाषण से पाकिस्तान को मदद मिल रही है। इस ओवैसी ने जवाब दिया, वो लोग खुद देश विरोधी हैं, जो मुझे एंटी नेशनल कहते हैं।