बांग्लादेश में संसदीय चुनाव के एक महीने पहले त्रिपुरा में 856 किलोमीटर लंबी अंतरराष्ट्रीय सीमा पर सुरक्षा बढ़ा दी गयी है ताकि राष्ट्रविरोधी तत्व भारतीय क्षेत्र में घुस नहीं पाएं। बीएसएफ के एक शीर्ष अधिकारी ने शुक्रवार को इस बारे में जानकारी दी। बता दें कि पड़ोसी देश में चुनाव 30 दिसंबर को होना है।


सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के स्थापना दिवस की पूर्व संध्या पर यहां संवाददाता सम्मेलन में महानिरीक्षक हेमंत कुमार लोहिया ने कहा कि चुनाव के मद्देनजर सीमा के दोनों तरफ सुरक्षा बलों को अलर्ट रखा गया है।

बीएसएफ के आईजी लोहिया ने कहा, ‘‘अपराधियों के देश में घुसने या बाहर जाने से रोकने के लिए हमने अपने सुरक्षा बलों को चौकस रखा है। हमारी सीमा आम तौर पर शांत है और हर समय चौकसी बरती जाती है। लेकिन, चुनाव के मद्देनजर हमने और जवानों तथा संसाधनों को लगाया है।’’

बीएसएफ के अधिकारियों ने कहा कि रिजर्व में रखे जाने वाले इलेक्ट्रॉनिक निगरानी उपकरणों का भी इस्तेमाल किया जा रहा है। रोहिंग्या शरणार्थियों के आने के मुद्दे पर लोहिया ने कहा कि उन्हें नहीं लगता कि म्यांमा में रखाइन प्रांत के लोग भारत की सुरक्षा और अमन-चैन के लिए खतरा हैं।