2021 में पूर्वोत्तर भारत का एक राज्य पड़ोसी देश से जुड़ने जा रहा है। इसके तहत लाखों लोग सीधे ही देश में जा सकेंगे। दरअसल अगरतला से अखौरा (बांग्लादेश) के बीच बहुप्रतीक्षित रेलवे लाइन का कार्य सितंबर 2021 तक पूरा होने जा रहा है। ​इस रेलवे लाइन के लिए भूमि का अधिग्रहण और इसे कार्यदायी संस्था को सौंपने की प्रक्रिया दोनों देशों में पूरी हो चुकी है। अधिकारियों ने गुरुवार को यह जानकारी दी। यह रेल लाइन 15.6 किलोमीटर लंबी है जिसका 10.6 किलोमीटर का हिस्सा गंगासागर (बांग्लादेश) से निश्चिंतपुर (भारत) और 5.46 किलोमीटर लंबा हिस्सा निश्चिंतपुर से अगरतला रेलवे स्टेशन तक है।

रेलवे के मुताबिक भारतीय हिस्से में 5.46 किमी रेलवे लाइन बिछाने का खर्च पूर्वोत्तर रेल मंत्रालय वहन करेगा और बांग्लादेश के हिस्से की 10.6 किमी रेलवे लाइन बिछाने का खर्च विदेश मंत्रालय वहन करेगा।इरकॉन(आईआरसीओएन) इस परियोजना की कार्यदायी संस्था है। भारतीय हिस्से में भारत-बांग्ला रेल कार्य के लिए 580 करोड़ रुपये आवंटित किए गए हैं।

इरकॉन इंटरनेशनल लिमिटेड के उप मुख्य अभियंता रमन सिंगला ने बताया कि भारतीय हिस्से में काम पूरे जोरों पर है और हमें सितंबर 2021 से पहले इसे पूरा कर लेने की उम्मीद है।

अब हम twitter पर भी उपलब्ध हैं। ताजा एवं बेहतरीन खबरों के लिए Follow करें हमारा पेज : https://twitter.com/dailynews360