सीमा विवाद और इलाके को लेकर कई राज्य और देशों में जंग चल रहा है। हाल ही में सबसे खतरनाक युद्ध आर्मीनिया और अजरबैजान में हुआ है। यहां पर नागोर्नो-काराबाख के इलाके को लेकर विवाद हुआ और यह विवाद इतना ज्यादा बढ़ गया की यह युद्ध में तब्दिल हो गया। इस युद्ध के कारण नागोर्नो-काराबाख में अब चारों तरफ पड़ी लाशें बिखरी पड़ी है। यह मंजर इतना भयावह और खतरनाक है जिसे देखते ही हर कोई दंग रह जाए।

यहां के लोग अपनों की लाशें उठाने और टूटे पड़े अशियानों को समेट रहे हैं। दोनों तरफ की ओर की गोलीबारी से जनमाल की हानि हुई है। जानकारी के लिए बता दें कि यह युद्ध तीन सप्ताह से अधिक समय चला। अजरबैजान ने काफी आक्रामक तरीके से आर्मीनिया पर हमला किया था और हमला करने के लिए ड्रोन तकनीक का भी इस्तेमाल किया।  जिससे सैकड़ों लोगों की जानें गई हैं। साथ ही सैनिकों के शवों को उठाकर ठिकाने नहीं लगाया गया है।

यह युद्ध जब खत्म हुआ जब जंग विराम की घोषणा हुई उसके बाद दोनों देशों के सेना अपने-अपने इलाके में युद्ध में मरे सैनिकों के शवों को उठाने और उनका सामूहिक दाह संस्कार करने में लग गई। युद्ध विराम में देरी के कारण सैनिकों के शव खराब हो गए हैं। अब इन सैनिकों के शवों को दफनाने के लिए सामूहिक कब्रें खोदी जा रही हैं। जिससे एक साथ ही हजारों सैनिकों को दफ्नाया जा सकें।