टाउ ते से लोग अभी उभरे भी नहीं थे कि एक और मुसीबत सामने आ रही है। टाउ ते से भी खतरनाक एक और तुफान आ रहा है। इस तूफान का नाम ‘साइक्लोन यास’ है। यास बंगाल की खाड़ी में शुरू हो चुका है जिसका असर झारखंड और बिहार में नजर आने लगा है। धीरे धीरे यास तूफान काफी खतरनाक होता जा रहा है। यास तूफान की 25 मई या 26 मई को पश्चिम बंगाल एवं उड़ीसा के तट से  टकरा सकता है।

यास के प्रभाव से राजधानी दिल्ली में आज गरज के साथ बौछारें हो सकती है। यास की खबर मिलते ही गृहमंत्री अमित शाह ने आज वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए ओडिशा, आंध्र प्रदेश, पश्चिम बंगाल के मुख्यमंत्रियों और अंडमान और निकोबार द्वीप समूह के उपराज्यपाल के साथ बैठक करेंगे और चक्रवात यास को लेकर तैयारियों की समीक्षा करेंगे। मौसम विभाग के अनुसार यास तूफान के इस प्रभाव के कारण दिल्ली, उत्त र प्रदेश, हरियाणा, चंडीगढ़ और राजस्थासन के अधिकांश हिस्सोंभ में अगले 3 दिन तक धूल भरी हवाएं चल सकतीं हैं जिसकी रफ्तार 25 से 35 किमी प्रति घंटा होगी।


 
मौसम विभाग ने अलर्ट जारी किया है कि यास नाम का यह चक्रवाती तूफान 26 मई को पश्चिम बंगाल, ओडिशा और बांग्ला देश के तटीय इलाकों पर पहुंचेगा। कम दबाव का क्षेत्र के कारण यह उत्तलर-उत्तगर पश्चिम की ओर बढ़ रहा है और इसके चक्रवाती तूफान में बदलने के आसार नजर आ रहे हैं। इसके बाद अगले 24 घंटे में यह बेहद गंभीर चक्रवाती तूफान में तब्दी ल हो सकता है।