असम के नालबारी जिले में एक शादी के दौरान पटाखे चलाने को लेकMob lynching के कारण नहीं हो पाई थी शादी, अब उसी को दुल्हन बनायार हुए विवाद में एक व्यक्ति को पीट-पीट कर मारा डाला गया। पुलिस ने इस मामले में 6 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। इस घटना के बाद मंगलवार को शादी नहीं हो सकी थी। बुधवार रात दूल्हे ने उसी लड़की के साथ उसके घर पर शादी कर ली।

बता दें कि मंगलवार की रात मिंटू कलिता की घुराथल की एक लड़की के साथ शादी होनी थी। शादी के स्थान पर दूल्हे के आगमन के दौरान दुल्हन की पार्टी ने फटाके फोड़ने शुरू कर दिया।विवाह की रात करीब 11:30 बजे विवाह वाले परिवार के एक बच्चे ने पटाखा चलाया जो जाकर पड़ोसी (जतिन दास) को छू गया। इसके बाद जतिन दास ने उससे बच्चे को झिड़का और शायद थप्पड़ भी मार दिया। इस घटना से गुस्साए परिवार के 6 लोग जतिन दास के पास पहुंचे और उनके साथ जमकर मारपीट की। बाद में जब जतिन को पास के एक अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।


 
हालांकि जिले के एसपी ने इस घटना के मॉब लिंचिंग होने से इंकार किया है। उन्होंने कहा कि दूसरे केसों की तरह ये किसी अफवाह पर नहीं किया गया है और न ही इसमें बच्चा चोर की अफवाह फैलने की शंका होने जैसी कोई बात थी। एक स्थानीय व्यक्ति ने बताया जतिन  दास एक गरीब मजदूर था और उनके साथ मारपीट करने वाले शराब के नशे में थे।

बता दें कि कलिता ने अपने परिवार के सदस्यों और दोस्तों के साथ लड़की के घर पर आया और लड़की से शादी करके चला गया। इस शादी में नजदीकी लोग ही शामिल हुए थे।