पानबाजार के एमजी रोड पर शनिवार को हुए बम विस्फोट के बाद फैंसी बाजार की सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लेने के लिए शिक्षा मंत्री तथा स्थानीय विधायक सिद्धार्थ भट्टाचार्या फैंसी बाजार पहुंचे । इस दौरान उनके साथ कामरूप मेट्रो के जिला उपायुक्त वीरेंद्र मित्तल, गुवाहाटी के पुलिस आयुक्त प्रदीप चंद सालोई, गुवाहाटी नगर निगम की आयुक्त मोनालिसा गोस्वामी, अतिरिक्त जिला उपायुक्त पुलक महंत, गुवाहाटी नगर निगम के अतिरिक्त आयुक्त देबो मिश्रा सहित बड़ी संख्या में पुलिस प्रशासन के अधिकारी मौजूद थे। 

फैंसी बाजार के एसएस रोड पर पुलिस प्रशासन के अाला अधिकारियों के साथ सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लेने पहुंचे मंत्री ने कहा कि महानगर के फुटपाथों पर तेजी से अतिक्रमण हो रहा है, जो फुटपाथ पैदल चलने वाले लोगों के लिए तैयार की जा रही है। उन पर दुकानें लग रही हैं। 

पुलिस प्रशासन के निरंतर अभियान चलाए जाने के बावजूद फुटपाथ पर बैठने वाले दुकानदारों पर इसका कोई असर नहीं हो रहा है, जिसका जीता जागता उदाहरण एसएस रोड पर देखने को मिला, जहां गोहाटी उच्च न्यायालय के आदेश के बावजूद आज भी कपड़े का बाजार जारी है। वहां की स्थिति देख मंत्री ने आदेश दिया कि दुकानों के बाहर फुटपाथ पर बैठने वाले वेंडर, खोमचे वाले को हटाने की जिम्मेवारी अब स्थानीय दुकानदारों को भी लेनी होगी। स्थानीय व्यवसायी अपनी-अपनी दुकानों के बाहर  फुटपाथ पर बैठने वाले दुकानदारों को अगर बैठने की अनुमति नहीं देते हैं तो वेंडरों व खोमचों वालों को स्वयं ही हटना होगा। अगर व्यवसायी एेसा नहीं करते हैं तो उनका ट्रेड लाइसेंस रद्द कर दिया जाएगा।

उन्होंने गुवाहाटी नगर निगम की आयुक्त मोनालिसा गोस्वामी को निर्देश दिया कि अगर कोई व्यवसायी अपनी दुकान के बाहर वेंडर अथवा खोमचे वाले को बैठने देता है तो एेसे प्रतिष्ठानों के ट्रेड लाइसेंस का नवीनीकरण नहीं किया जाए।

व्यवसायियों को इसके लिए सोमवार से गुवाहाटी नगर निगम की ओर से नोटिस जारी करने को कहा गया। केवल एसएस रोड ही नहीं बल्कि फैंसी बाजार सहित महानगर के अन्य इलाकों में भी फुटपाथ पर दुकानें लगाकर अवैध रूप से कब्जा करने वालों के  खिलाफ यही रणनीति अपनाने को कहा गया है।

उल्लेखनीय है कि फैंसी बाजार के एसएस रोड, हेम बरूवा रोड, एसआरसीबी रोड आदि पर बड़ी तेजी से फुटपाथ पर बैठने वाले दुकानदारों की संख्या बढ़ रही है, जिस पर पुलिस भी नकेल कसने में नकाम साबित हो रही है।