वैश्विक बाजार में कोविड-19 का वैक्सीन खोज लिये जाने के दावे के बाद तेल उत्पादक देशों के संगठन ओपेक ने क्रूड उत्पादन में बढ़ोतरी का संकेत दिये हैं।  इससे कच्चे तेल के बाजार में नरमी आई है।  इसके उलट आज भारतीय तेल विपणन कंपनियों पेट्रोल और डीजल के दामों में वृद्धि कर दी। 

घरेलू बाजार में पेट्रोल-डीजल के दाम में 48 दिनों के बाद, आज वृद्धि की गई है।  सरकारी तेल विपणन कंपनियों ने आज दिल्ली में जहां पेट्रोल 17 पैसे प्रति लीटर महंगा कर दिया, तो डीजल में भी 22 पैसे प्रति लीटर की बढ़ोतरी हुई।  नोएडा में पेट्रोल 25 पैसे प्रति लीटर तो डीजल 23 पैसे प्रति लीटर महंगा हुआ है।  शुक्रवार को दिल्ली में पेट्रोल 81.23 रुपये पर तो डीजल 70.68 रुपये प्रति लीटर पर पहुंच गया। 

बीते अगस्त के दूसरे पखवाड़े की शुरूआत से ही पेट्रोल की कीमतों में जो वृद्धि शुरू हुई थी, वह बीते एक सितंबर तक जारी रही थी।  यदि दिल्ली की बात करें तो यहां बीते 13 बार में पेट्रोल प्रति लीटर 1.65 पैसे महंगा हुआ था।  उसके बाद कुछ दिनों तक स्थिर रहने के बाद बीते 10 सितंबर के बाद इसमें ठहर-ठहर कर कमी का रुख था और पिछले महीने इसमें 1.19 रुपये की कमी हो चुकी है।