अफगानिस्तान में 20 साल बाद एकबार फिर तालिबान का शासन आ गया है। अफगानिस्तान का नाम आते ही लोगों के मन में सबसे पहले जंग और खून-खराबे की छवि उभरती है लेकिन यह देश अपने में अद्भुत प्राकृतिक खूबसूरती भी समेटे हुए है। ऐसे में हम आपको अफगानिस्तान की उन 10 जगहों के बारे में बता रहे हैं जो पूरी दुनिया में मशहूर है—

पामीर माउंटेन
सेंट्रल एशिया स्थित पामीर माउंटेंस दिल को छू लेने वाली खूबसूरती के चलते एक पॉपुलर टूरिस्ट डेस्टिनेशन्स माने जाते हैं। ये जगह हिमालय और तियान शान, सुलेमान, हिंदू कुश, कुनलुन और कराकोरम की पर्वत श्रृंखलाओं के बीच स्थित है। इस खूबसूरत जगह को एक्सप्लोर करने यहां दुनियाभर से टूरिस्ट आते हैं।

बंद-ए-आमीर नेशनल पार्क
एक रिमोट एरिया में होने की वजह से बंद-ए-आमीर नेशनल पार्क तक पहुंचना आपके लिए थोड़ा मुश्किल हो सकता है। अफगानिस्तान के शहर बामियान से होकर यहां आसानी से पहुंचा जा सकता है। यहां के लिए सप्ताह में सिर्फ दो बार (गुरुवार दोपहर और शुक्रवार सुबह) ही मिनी वैन जाती हैं।

बामियान के बुद्ध
अफगानिस्तान का यह मध्य भाग वह शहर है जहां बौद्धों का विस्तार हुआ। बामियान के बुद्ध एक मल्टी कल्चरल डेस्टिनेशन है। यहां आपको चीनी, भारतीय, फारसी, ग्रीक और तुर्की परंपराओं का अनोखा मिलन देखने को मिलेगा। हालांकि शहर में बुद्ध की विशालकाय प्रतिमा आपको आश्चर्य में डाल देगी।

ब्रोघिल पास
हिंदु कुश और बदख्शां प्रांत के वाखन जिले को पार करते ही ब्रोघिल पास की ऊंची चोटियां अपने प्राकृतिक सौंदर्य के साथ आपका स्वागत करेंगी। इन चोटियों से आप पूरे शहर का नजारा देख सकेंगे। यहां का शांत वातावरण और हरियाली टूरिस्ट को अपनी ओर खींचती है। ताजिकिस्तान से होते हुए वाखन कॉरिडोर के जरिए ब्रोघिन पास जाना आसान है।

मीनार-ए-जाम- मीनार-ए-जाम की 65 मीटर ऊंची इमारत देखकर शायद आपको चक्कर आ जाए। ऐसा कहते हैं कि यह घुरिद साम्राज्य के ऐतिहासिक काल के दौरान शहर में बने स्मारकों में से एक है। 65 मीटर ऊंची इस मीनार पर अद्भुत नक्काशी देखी जा सकती है।

बाग-ए-बाबर
यह जगह अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में है। बाग-ए-बाबर का निर्माण मुगल शासक बाबर द्वारा किया गया था। अफगानिस्तान जाने के बाद हो सकता है कि ये डेस्टिनेशन आपको सबसे सुखद अनुभव दे।

हेरात नेशनल म्यूजियम
अफगानिस्तान के प्राचीन शहर हेरात में एक नेशनल म्यूजियम भी है। इस म्यूजियम को पहले तोड़ दिया गया था, लेकिन बाद में पर्यटकों को अफगानिस्तान के इतिहास से रू-ब-रू कराने के लिए इसे फिर से डिजाइन किया गया। लोग पहले इसे काला इक्तियारुद्दी या एलेक्जेंडर के गढ़ के रूप में जानते थे।

दारुल अमन पैलेस
अफगानिस्तान में दारुल अमन पैलेस भी टूरिस्ट के बीच एक फेमस डेस्टिनेशन है। दारुल अमन पैलेस का अर्थ है 'शांति का निवास'। इस महल का निर्माण यूरोपियन शैली में किया गया था, जो अब बर्बाद हो चुका है। महल का निर्माण 1925 में शुरू हुआ था और 1927 में बनकर तैयार हो गया था। इस महल को तत्कालीन शासक आमीर अमानुल्लाह खान ने बनवाया था। इसे बनवाने के लिए अमानुल्लाह खान ने जर्मनी और फ्रांस से 22 आर्किटेक्ट बुलवाए थे।

नोशाक माउंटेन
नोशाक पर्वत अफगानिस्तान के बदख्शां प्रांत के वाखन कॉरिडोर में स्थित एक खूबसूरत डेस्टिनेशन है। ये अफगानिस्तान की सबसे ऊंची चोटी है। यह हिंदु कुश पर्वत श्रृंखला की दूसरी सबसे ऊंची चोटी है। इसकी ऊंचाई करीब 24,000 फीट है।

ब्लू मॉस्क्यू
अफगानिस्तान की ब्लू मॉस्क्यू यानी मस्जिद न सिर्फ एक धार्मिक स्थल है, बल्कि ये पर्यटकों के बीच भी बड़ी फेमस है। नीले संगमरमर से बनी ये मस्जिद सफेद कबूतरों से भरी रहती है। यह मस्जिद उत्तरी अफगानिस्तान में है। इस मस्जिद को हजरत अली मजार भी कहा जाता है। ऐसा कहते हैं कि हजरत अली के शरीर को इसी जगह पर दफनाया गया था।