अफगानिस्तान में तालिबान का नियंत्रण होने के बाद लोगों में डर है। लोग अपनी जान बचाने के लिए लगातार वहां से दूसरे देशों की तरफ रूख कर रहे हैं। अफगानिस्तान में इस वक्त वहां पर रह रही महिलाओं में भी काफी भय का माहौल है। इस बीच एक ऐसी तस्वीर वायरल हो रही है जिसमें अमेरिकन टेलीविजन पत्रकार क्लेरिसा वॉर्ड दो अलग ड्रेस में रिपोर्टिंग करते हुई नजर आ रही हैं। सोशल मीडिया के कुछ पोस्ट्स में ऐसा कहा जा रहा है कि तालिबान का अफगानिस्तान पर पूर्ण रूप से कब्जा होने के बाद क्लेरिसा की ड्रेस में यह बदलाव देखने को मिला है।

लगातार लोगों के बीच सोशल मीडिया पर वायरल होती तस्वीरों के बीच खुद क्लेरिसा वॉर्ड ने इस पर अपनी सफाई दी है। उन्होंने कहा कि वायरल तस्वीरों में इसे गलत तरीके से दिखाया गया है। ऊपर की तस्वीर एक निजी परिसर की है जबकि नीचे के तस्वीर तालिबान की सड़कों की है।

उन्होंने आगे कहा कि मैंने हमेशा पीछे भी काबुल की सड़कों पर रिपोर्टिंग के दौरान सिर पर स्कार्फ रखा है। हालांकि, बाल पूरी तरह से ढका हुआ नहीं होता ता और मैं अबाया में नहीं थी। ऐसे में भले ही ड्रेस में बदलाव है लेकिन वह वैसा नहीं जैसा कि वायरल तस्वीर में दिखाया गया है।

गौरतलब है कि अमेरिकी पत्रकार क्लेरिसा वॉर्ड एक फोटो में पश्चिमी पेशेवर लिबास में दिख रही हैं तो वहीं दूसरी में वह इस्लामिक ड्रेस में दिख रही हैं, जिसे खासकर मुस्लिम महिलाएं ही पहनती हैं। ऐसे में सोशल मीडिया पर लगातार वायरल हो रही तस्वीरों में ऐसा कहा जा रहा है कि क्लेरिसा ने ऐसा डर के मारे जान बूझकर किया है।