अफगानिस्तान और तालिबान में जारी खूनी संघर्ष के बीच अफगान सेना काल बनकर आतंकियों पर टूटी है। हेलमंद में पिछले 24 घंटों के दौरान अफगान सुरक्षा बलों द्वारा किए गए हवाई हमलों और जमीनी अभियानों में तालिबान सैन्य आयोग के तीन प्रमुखों सहित 75 तालिबानी आतंकवादी मारे गए हैं। वहीं, अफगान सुरक्षाबलों के हमले में कम से कम 22 आतंकवादी घायल हो गए। अफगानिस्तान के उप रक्षा मंत्री के प्रवक्ता फवाद अमान ने मंगलवार को यह जानकारी दी। 

उन्होंने कहा, 'हवाई हमलों और एएनए ग्राउंड ऑपरेशन में पिछले 24 घंटों के दौरान हेलमंद प्रांत की राजधानी लश्करगाह के बाहरी इलाके में तालिबान के सैन्य आयोग के 3 प्रमुखों सहित 77 तालिबानी आतंकवादी मारे गए और 22 अन्य घायल हो गए।' उन्होंने कहा कि हेलमंद में आतंकवादियों के खिलाफ अफगानिस्तानी सेना का अभियान जारी है। इससे पहले अफगानिस्तान के रक्षा मंत्रालय ने घोषणा की थी कि अमेरिका ने हेलमंद के लश्करगाह शहर पर हवाई हमले किए, जिसमें कम से कम 40 तालिबान आतंकवादी मारे गए।

तालिबान और अफगानिस्तान में यह खूनी संघर्ष युद्धग्रस्त देश अफगानिस्तान से अमेरिकी सैनिकों की वापसी के मद्देनजर आया है। अफगानिस्तान के कई शहरों में अफगानिस्तान बलों और तालिबान के बीच भारी झड़पें हो रही हैं। तालिबान लगातार अफगानिस्तान में कब्जा करता जा रहा है। पिछले कुछ हफ्तों में तालिबान ने देश के पूर्वोत्तर प्रांत तखर सहित अफगानिस्तान के कई जिलों पर कब्जा कर लिया है। कुल मिलाकर देखें तो अफगानिस्तान के 223 जिलों में तालिबान का कब्जा हो चुका है और वह अब इन जिलों को नियंत्रित करता है।