कोलकाता। पश्चिम बंगाल में भारतीय जनता पार्टी(BJP) के नेताओं ने रविवार को ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) के नेतृत्व वाले प्रशासन पर हमला करते हुए राज्य के सभी जिलों में चुनाव में कदाचार व बलात्कार की धमकी देकर लोगों को डराने के खिलाफ प्रदर्शन किया। 

भाजपा नेता अमित मालवीय (BJP leader Amit Malviya) ने आरोप लगाया, 'लोगों को मतदान करने से रोकने के लिये पूरे कोलकाता में बम फेंके जा रहे हैं।'

उन्होंने कहा,'टीएमसी के इस खेल में पुलिस और प्रशासन की मिलीभगत है। पश्चिम बंगाल राज्य चुनाव आयोग कोलकाता नगर निगम (केएमसी) का स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव कराने में असफल रहा है।' उन्होंने सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) पर पुलिस और प्रशासन की मदद से केएमसी चुनावों में नियमों का उल्लघंन करने और तोडऩे का आरोप लगाया है।

मालवीय ने ट््वीट किया कि ममता बनर्जी (mamta banerjee) केएमसी चुनाव में जीत हासिल करने के लिये बड़े पैमाने पर चुनावी कदाचार, बलात्कार की धमकी और लोगों को डाराने के साथ ही राज्य चुनाव आयोग से लेकर पुलिस और प्रशासन तक हर एजेंसी का दुरुपयोग कर रही हैं। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सुकांत मजूमदार ने घोषणा किया था कि पार्टी कार्यकर्ता दोपहर एक बजे सभी जिलों में 'लोकतंत्र की हत्या को उजागर' करने के लिये प्रदर्शन करेंगे। 

भाजपा नेता सिसिर बजोरिया के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल ने राज्य चुनाव आयोग कार्यालय में एक ज्ञापन सौंपा जिसमें सत्तारूढ़ टीएमसी सरकार पर वोट के लिये सरकारी तंत्र का दुरुपयोग करने का आरोप लगाया गया है। भाजपा नेता अमित मालवीय ने ट्वीटर पर एक वीडियो पोस्ट करते हुये दावा किया कि अदालत द्वारा केएमसी चुनाव के दौरान लिए सभी मतदान केंद्रों पर सीसीटीवी कैमरे लगाने का आदेश देने के बावजूद, टीएमसी के गुंडों ने कैमरों पर स्टिकर चिपका दिये। 

इसी अवधि में रविवार को शहर के 144 मतदान केंद्रों पर सुबह सात बजे से मतदान शुरू होने के बाद कई जगहों से कुछ हिसंक घटना की खबरें सामने आयी। सियालदह स्टेशन के पास एक मतदान केंद्र पर बम फेंकने की घटना में एक मतदाता घायल हो गया। जिसे घायलावस्था में अस्पताल में भर्ती कराया गया। वहीं माक्र्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी और कांग्रेस ने भी सत्तारूढ़ दल पर 'बड़े पैमाने पर धांधली' का आरोप लगाया है।