वरिष्ठ कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने बंगाल में सत्ताधारी तृममूल कांग्रेस और बीजेपी पर निशाना साधा है।  अधीर रंजन चौधरी ने कहा है कि जिन चार राज्यों और एक केंद्र शासित प्रदेश में विधानसभा चुनाव हुए हैं, उनमें से हिंसा की घटनाएं केवल पश्चिम बंगाल में हुई और इसके लिए बीजेपी और टीएमसी जिम्मेदार हैं। 

कांग्रेस की पश्चिम बंगाल ईकाई के अध्यक्ष चौधरी ने कहा कि हालांकि इस बार अब तक हुए तीन चरणों के चुनाव में पश्चिम बंगाल में हिंसा की ऐसी घटनाएं कम रहीं और इसका श्रेय निर्वाचन आयोग (ईसी) को जाता है, उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल के अलावा तीन अन्य राज्यों और एक केंद्र शासित प्रदेश में चुनाव हुआ लेकिन बूथ पर कब्जा करना, खूनखराबा और हमले की घटनाएं केवल हमारे राज्य में सुनी गई। 

लोकसभा में कांग्रेस के नेता ने कहा कि केवल केंद्रीय बलों के जवान ही चुनाव के दौरान हर अप्रिय घटना को नहीं रोक सकते और इसकी जिम्मेदारी राज्य पुलिस पर भी बनती है। उन्होंने यह भी दावा किया कि वाम-कांग्रेस-आईएसएफ गठबंधन पश्चिम बंगाल में तीसरी ताकत के तौर पर अपनी स्थिति मजबूत कर रहा है। 

उन्होंने कहा कि कोलकाता के ब्रिगेड परेड ग्राउंड में 28 फरवरी को गठबंधन की रैली में भारी संख्या में लोग फासीवादी और अलोकतांत्रिक ताकतों के खिलाफ एकजुट हुए।  चौधरी ने कहा कि यह दिलचस्प है कि टीएमसी और बीजेपी दोनों यह कह रही हैं कि चुनाव में उनका लक्ष्य 200 सीटें जीतने का है।