कोरोना काल में टीकाकरण अभियान को एक बार फिर से रफ्तार देने के लिए स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि देश में जून के महीने में कोविड-19 वैक्सीन की लगभग 12 करोड़ खुराक उपलब्ध होगी। मई में, टीकाकरण के लिए कुल 7, 94 करोड़ खुराक उपलब्ध थे। स्वास्थ्य मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को आपूर्ति का आवंटन खपत पैटर्न, जनसंख्या और वैक्सीन की बर्बादी पर तय किया जाता है।


स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि "जून 2021 के पूरे महीने के लिए टीकों की उपलब्धता के लिए राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों को काफी पहले ही दृश्यता प्रदान कर दी गई है "। मंत्रालय ने बताया है कि "जून महीने के लिए, 6.09 करोड़ खुराक स्वास्थ्य देखभाल श्रमिकों (HCW), फ्रंट-लाइन वर्कर्स (FLW) और 45 वर्ष+ और उससे अधिक आयु के व्यक्ति के प्राथमिकता समूह के टीकाकरण के लिए राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को भारत सरकार से मुफ्त आपूर्ति के रूप में कोरोना टीके की आपूर्ति की जाएगी ”।

इसके अलावा, राज्य और केंद्र शासित प्रदेशों और निजी अस्पतालों द्वारा सीधी खरीद के लिए 5.86 करोड़ से अधिक खुराक उपलब्ध होगी। इसलिए, जून 2021 में राष्ट्रीय कोरोना टीकाकरण कार्यक्रम के लिए करीब 12 करोड़ खुराक उपलब्ध होंगी। मंत्रालय ने बताया कि इस आवंटन के लिए वितरण कार्यक्रम पहले से राज्यों के साथ साझा किया जाएगा। “राज्यों से अनुरोध किया गया है कि वे संबंधित अधिकारियों को आवंटित खुराक के विवेकपूर्ण उपयोग को सुनिश्चित करने और वैक्सीन की बर्बादी को कम करने के लिए निर्देशित करें।

हर्षवर्धन ने कहा कि राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों को केंद्र से 15/30 दिनों के लिए मुफ्त वैक्सीन खुराक की मात्रा उपलब्ध कराने के पीछे मूल उद्देश्य है और प्रदेशों द्वारा सीधी खरीद के लिए उपलब्ध कुल वैक्सीन खुराक बेहतर योजना सुनिश्चित करना है। केंद्र सरकार द्वारा मई माह के लिए 4,03,49,830 वैक्सीन की खुराक राज्यों को उपलब्ध करायी गयी है। इसके अलावा, मई में राज्यों के साथ-साथ निजी अस्पतालों द्वारा सीधी खरीद के लिए 3, 90, 55,370 खुराक उपलब्ध थे।