तृणमूल कांग्रेस के सांसद अभिषेक बनर्जी की साली को अवैध कोयला तस्करी मामले में तलब करने के एक दिन बाद केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) की टीम पूछताछ करने के लिए उनके घर पहुंच गई है। सीबीआई के अधिकारियों के अनुसार, जांच अधिकारी उमेश कुमार के नेतृत्व वाली 8 सदस्यों की टीम गंभीर के घर पर पहुंची। इस टीम में 2 महिला अधिकारी भी हैं। टीम बैंकिंग लेनदेन के संबंध में पूछताछ करेगी।

वहीं रविवार को समन प्राप्त करने वाली अभिषेक की पत्नी रुजिरा बनर्जी ने सीबीआई अधिकारियों से मंगलवार की सुबह 11 बजे से 3 बजे के बीच अपने आवास पर पूछताछ करने के लिए कहा है। बता दें कि अभिषेक बनर्जी पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस की सुप्रीमो ममता बनर्जी के भतीजे हैं। सीबीआई ने यह कार्रवाई तब की है जब पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव होने में कुछ ही समय बाकी है। साथ ही चुनावों को लेकर सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस और भाजपा के बीच की लड़ाई काफी तीखी हो चुकी है।

सीबीआई की कार्रवाई के बाद अभिषेक ने रविवार को कहा कि उन्हें कानून पर पूरा भरोसा है। एक ट्वीट कर अभिषेक ने कहा, ‘‘आज दोपहर 2 बजे सीबीआई ने मेरी पत्नी को नोटिस भेजा है। हमें कानून पर पूरा भरोसा है, लेकिन यदि उन्हें लगता है कि वे हमें डराने के लिए ये सब कर रहे हैं तो यह उनकी गलती है। हम उनमें से नहीं हैं जो झुक जाएंगे।’’ वहीं इस मसले पर तृणमूल कांग्रेस के प्रवक्ता कुणाल घोष ने कहा, ‘‘इसमें कोई नई बात नहीं है। 

राज्य विधानसभा चुनाव से पहले अभिषेक बनर्जी की छवि खराब करने के लिए भाजपा केंद्रीय एजेंसियों का उपयोग कर रहे हैं। सीबीआई का नोटिस भी इसीलिए भेजा गया है।’’ बता दें कि सीबीआई ने पिछले साल नवंबर में कोयले की अवैध चोरी का मामला दर्ज किया था। एजेंसी ने कोयला माफिया अनूप माझी उर्फ लाला, उसके सहायक जे.मंडल और अन्य अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया था।