असम में सिटीजनशिप अमेंडमेंट बिल के विरोध में AASU यानी आल असम स्टूडेंट्स यूनियन के छात्रों मुख्यमंत्री के घर का घेराव किया है। उस समय मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल घर में ही थे, विरोध को देखते हुए उनको अपने घर से बाहर हेलीकॉप्टर से जाना पड़ा। स्टूडेंट्स ने बिल खिलाफ नारे लगाते हुए मुख्यमंत्री के लखीनगर स्थित घर का घेराव किया था।

इस बिल को लेकर आसू कार्यकर्ताओं का कहना है कि वो इसें स्वीकार नहीं करेंगे क्योंकि यह असम अकोर्ड के अनुसार संविधान के सेक्यूलर चरित्र का हनन करता है। इस बिल में 6 धर्मों के लोगों को राज्य की नागरिकता देने का प्रावधान है जिसको लेकर राज्य में बड़े पैमाने पर प्रदर्शन हो रहे हैं। 

सिटीजनशिप अमेंडमेंट बिल में 31 दिसंबर 2014 से पहले पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश से आए हिंदू, सिख्ख, पारसी, जैन, बौध और ईसाईयों शरणार्थियों को यहां की नागरिकता देने का प्रावधान किया गया है। इसी को लेकर राज्य में कई स्टूडेंट, सामाजिक संगठनों और राजनीतिक पार्टियों द्वारा विरोध किया जा रहा है।