सिरसा। हरियाणा सरकार की नई आबकारी नीति के तहत शहरी क्षेत्र में शराब की दुकानें चौबीस घंटे खोले जाने एवं शराब पीने की कानूनी आयु को 25 वर्ष से घटाकर 21 वर्ष किए जाने के विरोध में शनिवार को आम आदमी पार्टी (आप) की सिरसा महिला इकाई ने उपमुख्यमंत्री दुष्यन्त चौटाला को शराब की बोतलें भेंट करने को लेकर रोष प्रदर्शन किया गया। प्राप्त जानकारी के अनुसार चौटाला के आवास में घुसने पर प्रदर्शनकारी महिलाओं की वहां तैनात पुरूष और महिला पुलिस कर्मियों के साथ धक्का-मुक्की हुई। सुरक्षा के लिहाज से उप पुलिस अधीक्षक आर्यन चौधरी के नेतृत्व में भारी पुलिस बल तैनात कर अवरोधक लगाए गए थे। 

जिला समाज कल्याण अधिकारी सुरेश शर्मा को ड्यूटी मजिस्ट्रेट लगाया गया था। इससे पहले आप नेता दर्शन कौर, कविता नागर, ममता कम्बोज, कर्मजीत कौर और सोनिया के नेतृत्व में महिलाएं शहीद भगत सिंह स्टेडियम में एकत्रित हुई और शराब की बोतलें हाथों में लेकर रोष जाहिर करते हुए उपमुख्यमंत्री की ओर जानी लगीं। प्रदर्शनकारी महिलाओं को बाबा भूमण शाह चौक पर पुलिस द्वारा लगाए गए अवरोधक पर रोक लिया गया, जिसके विरोध में महिलाओं ने चौक पर ही बैठकर और हाथों में शराब की बोतलें लेकर काफी समय तक नारेबाजी करते हुए सरकार से नई आबकारी नीति को वापस लेने की मांग की। इसके कारण बरनाला रोड़ पर वाहनों का आवागमन रोक दिया गया जिससे लोगों को खासी परेशानी झेलनी पड़ी। 

यह भी पढ़े : Mahindra Scorpio 2022 का नया टीजर जारी, दिखने में बहुत दमदार है SUV की नई जनरेशन


पुलिस द्वारा प्रदर्शनकारियों को उपमुख्यमंत्री निवास पर बढऩे से रोकने पर कुछ महिलाएं पीछे की गली से उपमुख्यमंत्री निवास की तरफ चल पड़ीं जिससे पुलिस में हड़कंप मच गया तथा महिलाएं उपमुख्यमंत्री के निवास के पिछले गेट के बिल्कुल नजदीक पहुंच गई और नारेबाजी करते हुए प्रदर्शन करने लगी। महिलाओं ने श्री चौटाला के आवास पर उन्हें शराब की बोतलें भेंट करनी चाही तो उनकी पुलिस के साथ धक्का मुक्की हो गई, जिससे आप नेत्री दर्शन कौर बेहोश होकर गिर पड़ी। 

महिलाओं ने उपमुख्यमंत्री को भेंट स्वरूप देने वाली शराब की बोतलें वहीं पर छोड़ दी। पुलिस के साथ जद्दोजहद के बाद महिलाएं फिर से बाबा भूमण शाह चौक पहुंची और शराब की बोतलें वहां तैनात पुलिस के समक्ष छोड़कर वापस शहीद भगत सिंह स्टेडियम लौट गईं। इस दौरान मीडिया से बातचीत में आप नेता दर्शन कौर, ममता कम्बोज, कर्मजीत कौर और सोनिया ने संयुक्त तौर पर कहा कि हरियाणा सरकार की नई आबकारी नीति का आम आदमी पार्टी विरोध करती है। 

यह भी पढ़े : Chandra grahan 2022: बुद्ध पूर्णिमा के दिन लगेगा साल का पहला चंद्र ग्रहण, इन तीन राशियों के खुलेंगे भाग्य

शहरी क्षेत्रों में चौबीस घंटे आपूर्ति से स्पष्ट होता है कि हरियाणा सरकार की मंशा युवाओं को नशे में डुबा देने की है जिससे कि नशे के आदी होकर पढ़े-लिखे युवक सरकारी नौकरियों के लिए अयोग्य हो जाएं तथा उनका मनोबल टूट जाए। उन्होंने कहा कि सरकार युवाओं को रोजगार देने की अपनी जिम्मेवारी से भाग रही है। आप नेताओं ने कहा चौबीस घंटे शराब की दुकानें संचालित होने से समाज में अराजकता फैल जाएगी। सुबह के समय छात्र-छात्राएं स्कूल में जाते हैं, आम लोग मन्दिर-गुरूद्वारे आदि जाते हैं। उन्होंने कहा कि चौबीस घंटे शराब की दुकानें खुली रहने से शराबी लोग नित-नित नए अपराध करेेंगे तथा इससे प्रदेश की जनता विशेषकर महिलाएं अपने आप को पूरी तरह से असुरक्षित महसूस करेंगी।