हिमाचल प्रदेश में चुनाव नजदीक आते ही राजनीतिक पार्टियों की घोषणाओं शुरू हो चुकी हैं। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने हिमाचल दिवस के मौके पर जनता के लिए बड़ी घोषणाएं की हैं। इन घोषणाओं के होते ही आम आदमी पार्टी ने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि यह उनकी हार का एक खौफ है और केजरीवाल मॉडल को नकल करने की कोशिश कर रहे हैं।

ये भी पढ़ेंः यरूशलम की अल-अक्सा मस्जिद में क्यों लड़ते हैं यहूदी और मुस्लिम, जानिए सबसे बड़ा कारण


दरअसल सीएम ने घोषणा करते हुए कहा कि, हिमाचल में महिलाओं से बस किराया 50 प्रतिशत लिया जाएगा। प्रदेश में 125 यूनिट तक निशुल्क घरेलू बिजली की सुविधा दी जाएगी। इससे पहले 60 यूनिट तक निशुल्क घरेलू बिजली की सुविधा दी जा रही थी। ग्रामीण क्षेत्रों में पानी का बिल माफ होगा। इन घोषणाओं पर दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि, हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री ने घोषणा की है कि 150 यूनिट बिजली फ्री, गांव में पानी फ्री और महिलाओं का बस का किराया आधा करेंगे। हमने सुना था कि भाजपा आम आदमी पार्टी से डरी हुई है, लेकिन उनकी घोषणा के बाद समझ आ गया कि, अपनी हार का उनके अंदर खौफ है।

ये भी पढ़ेंः चीनी भाषा सीखेंगे भारतीय सैनिक, समझेंगे उसकी हर चाल


हालांकि मनीष सिसोदिया ने हिमाचल की जनता से अपील करते हुए कहा कि, इनके झांसे में मत आना, इन्हें वोट मत देना। पूरे देश में भाजपा की, उनके दोस्तों की 18 सरकारें हैं। कहीं भी नहीं सोचा कि बिजली फ्री कर दो, हर बार फ्री का विरोध किया। केंद्र की रिव्यू मीटिंग में बताते हैं कि फ्री बर्बाद कर रहा है और हिमाचल में चुनाव आया तो केजरीवाल मॉडल को कॉपी करने का नाटक करने लगे हैं। उन्होंने आगे कहा कि, हिमाचल में यह दिल्ली मॉडल की नकल करने की कोशिश है। केजरीवाल का इतना खौफ, अभी तो केजरीवाल जी का मंडी में एक ही रोड शो हुआ है। यह फ्री योजना इसलिए क्योंकि इन्हें पता है यह हारने वाले हैं। जनता भी जानती है इन घोषणाओं का कोई मतलब नहीं है। भाजपा सस्ती बिजली देने के खिलाफ रही है यदि चुनाव जीते तो घोषणा को वापस ले लेंगे। केजरीवाल जी के एक रोड शो से हिमाचल की जनता को इतना फायदा हो सकता है तो केजरीवाल जी के नेतृत्व और उनके मार्ग दर्शन में चलने वाली सरकार बन गई तो हिमाचल के लोगों का कितना फायदा होगा।