AAP विधायक ने HC से मांग की है कि दिल्ली में केजरीवाल सरकार फेल हो गई है और राष्ट्रपति शासन लगाया जाना चाहिए। यह बात आम आदमी पार्टी के विधायक शोएब इकबाल ने कही है। दिल्ली के मटिया महल से विधायक शोएब इकबाल ने कहा कि आज हमें विधायक होने पर शर्म आ रही है क्योंकि हम कुछ नहीं कर पा रहे हैं। उन्होंने कोरोना के कारण दिल्ली में पैदा हुए हालात के मद्देनजर हाईकोर्ट से अपील करते हुए दिल्ली में राष्ट्रपति शासन लगाने की अपील की है।

AAP MLA Shoaib Iqbal की शिकायत है कि दिल्ली में मरीजों को ना दवाई मिल रही है और ना ही अस्पताल-ऑक्सीजन, ऐसे में लोगों की कोई सुनवाई नहीं हो रही है। उन्होंने कहा कि मुझे दुख हो रहा है कि हम किसी की मदद नहीं कर पा रहे हैं, मैं छह बार से विधायक हूं, लेकिन कोई भी सुनने वाला नहीं है। अब मैं यही चाहूंगा कि दिल्ली हाईकोर्ट तुरंत यहां राष्ट्रपति शासन लगाए, वरना सड़कों पर लाशें बिछ जाएंगी। शोएब इकबाल ने कहा कि हमें केंद्र से सहयोग नहीं मिल रहा है, अगर केंद्र के हाथ में सब कुछ आएगा तो काम हो पाएगा। तीन महीने के लिए दिल्ली में राष्ट्रपति शासन लगना चाहिए।

दिल्ली को कोरोना वायरस संक्रमण के 24,235 नए मामले सामने आने के साथ ही दिल्ली में संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 11,22,286 तक पहुंच गई। शहर में संक्रमण की दर 32.82 दर्ज की गई। स्वास्थ्य विभाग के बुलेटिन के मुताबिक, दिल्ली में गुरुवार को कोविड-19 के 395 मरीजों की मौत हो गई जोकि पिछले साल महामारी की शुरुआत के बाद से एक दिन की सर्वाधिक संख्या है। शहर में अब तक 15,772 लोग इस महामारी के कारण जान गंवा चुके हैं। दिल्ली में लगातार आठवें दिन संक्रमण के कारण 300 से अधिक मरीजों की मौतें दर्ज की गईं। बुलेटिन के मुताबिक, राजधानी में अब तक 10.08 लाख से अधिक मरीज ठीक हो चुके हैं, जबकि वर्तमान में 97,977 एक्टिव केस हैं।