दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने किसान आंदोलन जारी रहने और इस आंदोलन को अपना पूरा समर्थन देने की बात कही है। इसके साथ ही उन्होंने कहा है कि आम आदमी पार्टी अगले दो सालों में होने वाले छह राज्यों के विधानसभा चुनाव लड़ेगी। अरविंद केजरीवाल ने यह ऐलान करते हुए कहा कि उनकी पार्टी उत्तरप्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, गोवा, गुजरात और हिमाचल प्रदेश में विधानसभा चुनाव लड़ेगी।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने पुलिस पर फर्जी केस बनाने के आरोप लगाए हैं। आम आदमी पार्टी की राष्ट्रीय काउंसिल की बैठक में उन्होंने कहा कि असल में जिन्होंने हिंसा की, हिंसा के लिए जो जिम्मेदार हैं, उनको सख्त से सख्त सजा मिलनी चाहिए। मुख्यमंत्री ने कहा, 26 जनवरी को जो हुआ वो दुर्भाग्यपूर्ण था। उसके असली गुनहगारों को सजा होनी चाहिए। फर्जी केस नहीं होने चाहिए। किसानों के मुद्दे अभी खत्म नहीं हुए हैं, किसान आंदोलन खत्म नहीं होगा। हम सब को किसानों का साथ देना है।

केजरीवाल ने कहा, 26 जनवरी को जो कुछ भी हुआ, वो दुर्भाग्यपूर्ण था। जो हिंसा हुई, वो दुर्भाग्यपूर्ण थी। उस दिन हिंसा हुई, इस वजह से किसानों के मुद्दे नहीं खत्म हो गए। वो मुद्दे आज भी बरकरार हैं। किसान 60 दिन से ठंड में बैठे हैं। किसानों की समस्याएं अभी भी बरकरार हैं। केजरीवाल ने कहा, आज देश का किसान बहुत दुखी है। 70 साल से सभी राजनीतिक पार्टियों ने किसानों को धोखा दिया है। अब ये जो 3 बिल आए हैं, ये तीनों बिल किसानों से खेती छीन कर चंद पूंजीपतियों को सौंप देंगे। जिस देश का किसान दुखी है, वो देश खुश नहीं हो सकता। किसानों का साथ देने जाओ तो गैर राजनीतिक व्यक्ति बनकर जाना। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा, अब किसानों के लिए अस्तित्व का सवाल है। अब अगर सडक़ पर नहीं उतरेंगे, तो किसानी नहीं बचेगी। अगर खेती किसानी नहीं बची तो बेचारा किसान जाएगा कहां। वह अपने परिवार को कैसे पालेगा।