अगले कुछ दिनों में अगस्त का महीना शुरू होने वाला है और 1 अगस्त से आपके दैनिक जीवन से जुड़े नियमों में कुछ बड़े बदलाव होने जा रहे हैं। जिसका सीधा असर आपकी जेब पर पड़ेगा। 

एक अगस्त से बैंक से नकद निकासी और चेक बुक के नियम बदलने जा रहे हैं। अब इन सेवाओं के लिए आपको को ज्यादा पैसे देने पड़ेंगे। अगर आप तय सीमा से ज्यादा बार एटीएम से पैसे निकालते हैं तो उसके लिए आपको अतिरिक्त चार्ज देना होगा।

 इतना ही नहीं ट्रांजैक्शन फेल होने पर भी आपको चार्ज देना पड़ेगा। इसके अलावा एक अगस्त से रसोई गैस की नई कीमतें भी जारी होंगी, इसका सीधा असर आपकी घर के बजट पर पड़ता है। आइए जानते हैं 1 अगस्त से किन नियमों में बदलाव होने वाला है। 

एक अगस्त से लगने वाला चार्ज 

- IPPB खातों में फंड ट्रान्सफर पर 20 रुपये प्लस जीएसटी। 

- दूसरे बैंक खातों में फंड ट्रान्सफर पर 20 रुपये प्लस जीएसटी। 

- सेंड मनी सर्विस के तहत स्टैंडिंग इंस्ट्रक्शंस, पीओएसबी स्वीप इन और पीओएसबी स्वीप आउट के लिए 20 रुपये प्लस जीएसटी

- डाकघर के प्रॉडक्ट जैसे सुकन्या समृद्धि खाता, पीपीएफ, आरडी, एलएआरडी के लिए 20 रुपये प्लस जीएसटी। 

- बिल पेमेंट्स के तहत मोबाइल पोस्टपेड और बिल पेमेंट के लिए 20 रुपये प्लस जीएसटी। 

- सर्विस रिक्वेस्ट्स के मामले में अकाउंट सर्विसेज के तहत क्यूआर कोड रिइश्यू के लिए चार्ज 20 रुपये प्लस जीएसटी। 

- असिस्टेड यूपीआई के लिए 20 रुपये प्लस जीएसटी। 

- कैश विदड्रॉअल और कैश डिपॉजिट के लिए 20 रुपये प्लस जीएसटी। 

ATM इंटरचेंज फीस में बढ़ोतरी

1 अगस्त 2021 से एटीएम से तय सीमा से ज्यादा ट्रांजेक्शन पर ज्यादा पैसे देने होंगे। इंटरचेंज फीस को फाइनेंशियल ट्रांजेक्शन के लिए 15 रुपये से बढ़ाकर 17 रुपये कर सकते हैं। वहीं नॉन-फाइनेंशियल ट्रांजेक्शन के लिए इंटरचेंज फीस को 5 रुपये से बढ़ाकर 6 रुपये कर सकते हैं। 

आरबीआई इसकी इजाजत पिछले माह दे चुका है। आपको बता दें बैंक अपने ग्राहकों की सुविधा के लिये एटीएम लगाते हैं और दूसरे बैंकों के ग्राहकों को भी इसके जरिए सेवाएं दी जाती हैं। निर्धारित सीमा से अधिक उपयोग के एवज में वे शुल्क लेते हैं जिसे इंटरचेंज फीस कहते हैं। आरबीआई का कहना है कि एटीएम लगाने की बढ़ती लागत और एटीएम परिचालकों के रखरखाव के खर्च में वृद्धि को देखते हुए शुल्क बढ़ाने की अनुमति दी गई है।

डोरस्टेप बैंकिंग पर लेगा IPPB चार्ज

1 अगस्त 2021 से इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक ((India Post Payments Bank) अपने ग्राहकों से डोरस्टेप बैंकिंग (Doorstep Banking) के लिए चार्ज लेने  वाला है। अभी इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक (IPPB) डोरस्टेप बैंकिंग के लिए कोई चार्ज नहीं लेता है लेकिन 1 अगस्त से बैंक अपने हर ग्राहक से डोरस्टेप बैंकिंग के मामले में चुनिंदा प्रॉडक्ट/सर्विसेज के लिए हर रिक्वेस्ट पर 20 रुपये प्लस जीएसटी वसूलेगा। जो लोग IPPB के ग्राहक नहीं हैं लेकिन IPPB की डोरस्टेप बैंकिंग के तहत कुछ सर्विस का लाभ लेते हैं, उनके लिए कोई चार्ज नहीं होगा।

कुछ शुल्क बढ़ा रहा है ICICI बैंक 

- रेगुलर सेविंग अकाउंट के लिए ICICI Bank हर महीने 4 कैश ट्रांजैक्शन फ्री देता है। फ्री लिमिट के बाद हर ट्रांजैक्शन पर 150 रुपये देने होंगे।

- अगस्त से ICICI Bank के ग्राहक अपनी होम ब्रांच से एक लाख रुपये तक ही निकाल पाएंगे।

- इससे ज्यादा होने पर 5 रुपये प्रति 1,000 पर देना होगा। 

- होम ब्रांच के अलावा दूसरी ब्रांच से पैसा निकालने पर प्रतिदिन 25,000 रुपये तक कैश निकालने पर चार्ज नहीं है। 

- उसके बाद 1000 रुपये निकालने पर 5 रुपये देना होगा।

- 25 पेज की चेकबुक फ्री होगी। इसके बाद में आपको 20 रुपये प्रति 10 पन्नों की अतिरिक्त चेकबुक के लिए देना होगा। 

1 अगस्त से बैंक हॉलिडे पर मिलेगी सैलेरी

2021 से रविवार या कोई दूसरा बैंक हॉलिडे होने पर भी आपकी सैलरी, पेंशन, डिविडेंड और इंटरेस्ट का पेमेंट नहीं रुकेगा, यानी तय डेट पर ही सैलरी और पेंशन का भुगतान हो जाएगा। दरअसल, रिजर्व बैंक (RBI) ने ऐलान किया है कि नेशनल ऑटोमेटेड क्लियरिंग हाउस (National Automated Clearing House- NACH) सप्ताह के सातों दिन उपलब्ध होगा। 

नेशनल पेमेंट्स कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI) द्वारा संचालित NACH के माध्यम से बल्क पेमेंट जैसे सैलरी, पेंशन, ब्याज, डिविडेंड आदि की भुगतान होता है। एक अगस्त से NACH की सुविधा 7 दिन 24 घंटे मिलने से कंपनियां सैलरी कभी भी ट्रांसफर कर सकेंगी। 

जारी होंगी सिलेंडर की नई कीमतें  

1 अगस्त से LPG सिलेंडर की कीमतों में बदलाव आ जाएगा। हर महीने की पहली तारीख को घरेलू रसोई गैस और कमर्शियल सिलेंडर की नई कीमतें तय की जाती हैं।