दिवाली से पहले रक्षा मंत्रालय (Ministry of Defense) ने फैमिली पेशन से जुड़ा (Announcement related to family pension) एक बड़ा ऐलान किया है. मंत्रालय ने बच्चों की दी जाने वाली फैमिली पेंशन की (Increased the maximum limit of family pension to be given to children) अधिकतम सीमा को बढ़ा दिया है. जिन बच्चों के माता-पिता दोनों ही रक्षा मंत्रालय में काम करते हैं उन्हें इसका फायदा मिलेगा. यह जरूरी है कि माता-पिता दोनों को ही सातवें वेतन आयोग (7th Pay Commission)  के दायरे में आते हों और साथ ही दोनों के ही नॉमिनी में बच्चे का नाम शामिल हो.

क्षा मंत्रालय के बयान के अनुसार सातवें वेतन आयोग के तहत सरकारी सेवा में लगे उच्चतम पेंशन भुगतान को संशोधित किया गया है. इसे बढ़ाकर 2.5 लाख रुपये प्रति महीना कर दिया गया है. इसका मतलब है कि पेंशनर्स के परिवारों को 2.5 लाख रुपये तक की अधिकतम पेंशन मिल सकेगी, जिसमें पेंशन के सभी सोर्स शामिल होंगे. यह संशोधन 1 जनवरी 2016 से लागू माना जाएगा.

रक्षा मंत्रालय के अनुसार पेंशन एवं पेंशनभोगी कल्याण विभाग ने माता-पिता दोनों के संबंध में एक बच्चे या बच्चों को देय दो पारिवारिक पेंशन की अधिकतम सीमा को संशोधित कर 1.25 लाख रुपये प्रति माह (2.5 लाख रुपये सामान्य पारिवारिक पेंशन का 50 प्रतिशत बढ़ी हुई दर पर) और 75,000 रुपये प्रति माह (2.5 लाख रुपये सामान्य परिवार पेंशन का 30 प्रतिशत) कर दिया है. यह निर्णय 1 जनवरी 2016 से प्रभावी माना जाएगा.