सरकारी बैंकों से अरबों रुपए के ऋण लेकर फरार कारोबारियो विजय माल्या, नीरव मोदी और मेहुल चोकसी के देश विदेश में जब्त 18170.02करोड़ रुपए और संपत्तियों में से 9371.17 करोड़ रुपए बैकों तथा सरकार को हस्तांतरित कर दिए गए हैं। प्रवर्तन निदेशालय ने आज यहां यह जानकारी देते हुए कहा कि इन आरोपियों की जब्त की गई संपत्ति का एक हिस्सा सरकारी बैंकों और केंद्र सरकार को हस्तांतरि कर दिया गया है। 

ईडी के अनुसार इन लोगों की 18,170.02 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त की गई थी जिसमें से 9,371.17 करोड़ रुपये की संपत्ति बैंकों और केंद्र सरकार को हस्तांतरित कर दिए गए हैं। केंद्रीय एजेंसी ने कहा कि विजय माल्या, नीरव मोदी और मेहुल चोकसी के मामले में धन शोधन निरोधक कानून पीएमएलए के तहत 18,170.02 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त की गई थी जो बैंकों के कुल बकाये के 80.45 प्रतिशत के बराबर है। 

बैंकों को हुए नुकसान की भरपाई के उद्देश्य से यहराशि हस्तांतरित की गई है। ईडी के अनुसार विजय माल्या, नीरव मोदी और मेहुल चोकसी ने अपनी अपनी कंपनियों के जरिय़े पैसों की हेराफेरी की जिससे बैंकों को 22,585.83 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ। ईडी नेइन आरोपियों की 18,170.02 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त की जिसमें 969 करोड़ रुपये की संपत्ति विदेशों की थी।