महाराष्ट्र में ब्लैक फंगस (म्यूकरमाइकोसिस) से अब तक 90 लोगों की मौत हो चुकी है। प्रदेश के जन स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने बुधवार को इसकी जानकारी दी। ब्लैक फंगस के मामले पिछले साल कोरोना वायरस संक्रमण की शुरूआत के बाद से आने शुरू हुए हैं। हालांकि, मंत्री ने इसका समय नहीं बताया। उन्होंने कोविड-19 मरीजों के इलाज के दौरान स्टेरॉयड के अंधाधुंध इस्तेमाल के प्रति भी चेताया।

उन्होंने संवाददाताओं से कहा, महाराष्ट्र में अब तक म्यूकरमाइकोसिस से 90 लोगों की मौत हो चुकी है। यह गंभीर है....इसे हल्के में नहीं लेना चाहिए। मंत्री ने कहा, कोविड—19 मरीज के इलाज में स्टेरॉयड के अंधाधुंध इस्तेमाल से बचना चाहिए। टोपे ने कहा कि गंभीर मधुमेह और प्रतिरक्षा प्रणाली के दमन जैसे कारकों से भी लोग इस संक्रमण की चपेट में आ जाते हैं।

बता दें कि महाराष्ट्र में कोरोना वायरस संक्रमण से होने वाली मौत के आंकड़ों में बुधवार को बड़ी गिरावट देखने को मिली है। स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक राज्य में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस से 594 मौतें हुईं हैं। वहीं, 34,031 ने मामले सामने आए हैं। मंगलवार की तुलना में नए मामलों में बढ़ोतरी हुई है जबकि मौत के आंकड़ों में लगभग आधे की कमी नजर आई है।