जम्मू में नियंत्रण रेखा (एलओसी) और अंतरराष्ट्रीय सीमा पर करीब आठ हजार भूमिगत बंकर बनाए गए हैं. एलओसी और अंतरराष्ट्रीय सीमा के नजदीक रहने वाले लोगों की सुरक्षा के लिए यह बंकर बनाए हैं. अधिकारियों ने रविवार को इस बारे में बताया.

केंद्र सरकार ने जम्मू, कठुआ और सांबा में अंतरराष्ट्र्रीय सीमा और पुंछ तथा राजौरी में एलओसी के पास के गांवों के लोगों के लिए 14,460 एकल और सामुदायिक बंकर के निर्माण की मंजूरी दी थी. बाद में जोखिम वाली आबादी की सुरक्षा के लिए 4,000 और बंकर बनाने को मंजूरी दी गई.

7923 बंकरों का निर्माण पूरा

एक आधिकारिक प्रवक्ता ने बताया, जम्मू संभाग में अब तक 6964 एकल और 959 सामुदायिक बंकर समेत कुल 7923 बंकर बनाए जा चुके हैं. जम्मू के संभागीय आयुक्त राघव लांगेर ने यहां एक बैठक में बंकर निर्माण की प्रगति की समीक्षा की.

सीमा पर तीन महीने से शांति

सीमा पर शांति के लिए भारत और पाकिस्तान के बीच इस साल फरवरी में नए समझौते के बाद पिछले तीन महीने से जम्मू कश्मीर में संघर्ष विराम के उल्लंघन की कोई बड़ी घटना नहीं हुई है.

9905 और बंकरों का काम प्रगति पर

प्रवक्ता ने कहा कि 9905 और बंकरों के काम प्रगति में हैं और ये निर्माण की विभिन्न अवस्था में हैं. उपायुक्त ने बताया कि सांबा में 1592 बंकर, जम्मू में 1228, कठुआ में 1521, राजौरी में 2656 और पुंछ में 926 बंकर बनाए जा चुके हैं.