उत्तर प्रदेश के वाराणसी में ब्लैक फंगस का कहर जारी है। गुरुवार को वाराणसी में ब्लैक फंगस से 8 मरीजों को जान गंवानी पड़ी। बीएचयू अस्पताल में इलाज के दौरान दम तोड़ चुके ये मरीज पोस्ट कोविड वार्ड के अलावा सुपर स्पेशयलिटी ब्लॉक में भर्ती थे। ब्लैक फंगस के कारण बीएचयू में अब तक 32 मरीजों की मौत हो चुकी है। वहीं, 30 ऐसे मरीज हैं, जिनकी आंखें ब्लैक फंगस के कारण निकालनी पड़ी हैं।

8 मरीजों के मौत के अलावा गुरुवार को ब्लैक फंगस से पीड़ित 7 नए मरीजों को अस्पताल में भर्ती भी किया गया है। नए मरीजों में ब्लैक फंगस की पुष्टि के बाद मरीजों का आंकड़ा 145 पर जा पहुंचा है। इनमें से 7 मरीजों को अस्पताल से डिस्चार्ज किया गया है, जबकि 106 ऐसे मरीज हैं, जिनका अस्पताल के अलग-अलग वार्ड में इलाज जारी है।

बीएचयू अस्पताल में ब्लैक फंगस के बढ़ते मरीजों के इलाज के लिए नया वार्ड तैयार किया गया है। 40-40 बेड के दो वार्ड फुल होने के बाद नए वार्ड में मरीजों की भर्ती शुरू हो गई है। बीएचयू सर सुंदरलाल अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक डॉ. केके गुप्ता ने बताया कि ब्लैक फंगस के मरीजों के लिए हमारे यहां पर्याप्त मात्रा में बेड हैं। मरीजों की संख्या के हिसाब से अस्पताल में ब्लैक फंगस के नए वार्ड बनाए जा रहे हैं।