होली से पहले सरकार ने कर्मचारियों को बड़ा तोहफा दिया है। अब केंद्रीय कर्मचारियों के एक और भत्ते में बढ़ोतरी हुई है। सरकार की ओर से लिए गए इस फैसले के बाद, कर्मचारियों की सैलरी में 1000 रुपये से 8000 रुपये तक की बढ़ोतरी हो गई है।

त्योहार से पहले केंद्र की मोदी सरकार ने रक्षा विभाग के सिविल कर्मचारियों का रिस्क अलाउंस बढ़ाने का फैसला लिया है। यह अलाउंस केंद्रीय वेतन आयोग की सिफारिशों पर कर्मचारियों को दिया जाता है और वही इस तरह के भत्ते में बढ़ोतरी करने का फैसला लेता है। इसके बाद सरकार की सहमति के बाद इसका ऐलान होता है।

यह भी पढ़ें : सिक्किम में बिना तेल के बनाया जाता है लजीज फग्शापा मीट, पूरी दुनिया में मशहूर है ये होटल

दरअसल, रक्षा विभाग में कई कैटेगिरी के सिविलियन कर्मचारियों को भी रिस्क अकाउंस का फायदा दिया जाता है। लेकिन, यह भत्ता भी पद के हिसाब से अलग-अलग होता तय होता है। इस स्पेशल भत्ते की कैलकुलेशन अगर सालाना आधार पर की जाए तो इससे कर्मचारियों की सैलरी में 1000 रुपये से लेकर 8000 रुपये तक सालाना बढ़ोतरी हुई है।

यह भी पढ़ें : भारत के राज्य पर आया दुबई के शेखों का दिल, एक ही झटके में बना देंगे अमीर

गौरतलब है कि इस कैटेगिरी में आने वाले कर्मचारियों के भत्ते के तहत अकुशल कार्मिक को 90 रुपये महीना रिस्‍क अलाउंस दिया जाएगा। इसके अलावा अर्द्ध कुशन कार्मिक को 135 रुपये, कुशल कार्मिक को 180 रुपये, नॉन गजटेड अफसर को 408 रुपये और गजटेड अफसर को 675 रुपये प्रति महीने के हिसाब से यह भत्ता दिया जाएगा।