महामारी की दूसरी लहर को रोकने के लिए फ्रांस ने फिर से लॉकडाउन की घोषणा कर दी है। यह लॉकडाउन गुरुवार की रात से प्रभावी हो गया। लॉकडाउन की घोषणा के बाद ही पेरिस में वाहनों की लंबी लाइनें लग गईं। लॉकडाउन के दौरान अपनों के बीच रहने के लिए लोग एक साथ सफर पर निकल पड़े। इससे सड़क पर करीब 700 किलोमीटर लंबा जाम लग गया। लोग अपने घरों की ओर लौटने का प्रयास कर रहे थे।

गौरतलब है कि गुरुवार को ही फ्रांस के एक चर्च के बाहर कट्टरपंथी एक शख्स ने तीन लोगों की चाकू मारकर हत्या कर दी थी। इससे पूरे देश में उबाल है, जबकि कोरोना की रफ्तार भी फ्रांस में बढ़ने लगी है। वायरस से निपटने के लिए राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रों ने देश भर में एक बार फिर लॉकडाउन की घोषणा कर दी है। राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रों ने कहा है कि सोमवार से छुट्टियों से घरों से लौटने वाले लोगों के प्रति प्रशासन उदार रवैया अपनाए, किंतु निकलने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करे। इसके बाद पेरिस में लगे जाम की तस्वीर सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रही है। इसे एक रिकॉर्ड बताया जा रहा है। ऐसा लंबा जाम कभी भी कहीं नहीं लगा था, ऐसा दावा किया जा रहा है।

लॉकडाउन के दौरान लोगों को जरूरी काम से घर से बाहर निकलने की अनुमति है, लेकिन इसके लिए पुलिस की मंजूरी जरूरी है। राष्ट्रपति ने पहले ही कहा है कि बिना कारण घर से बाहर निकलने वालों पर कड़ी कार्रवाई की जाए। स्कूलों को खुला रखा गया है, लेकिन छह साल तक के बच्चों को स्कूल आने की इजाजत नहीं है। बड़े बच्चों को भी स्कूल आने के लिए अभिभावक की अनुमति लेनी होगी।