मणिपुर की राजधानी इम्फाल में स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर विभिन्न उग्रवादी समूहों के 68 उग्रवादियों ने मुख्यमंत्री एन बिरेन सिंह के समक्ष हथियारों के साथ आयोजित घर वापसी कार्यक्रम के तहत समर्पण किया। इसमें चार महिला उग्रवादी भी शामिल हैं।

इस मौके पर मुख्यमंत्री ने हिंसा छोड़ शांति का रास्ता अपनाने वाले उग्रवादियों की प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि इससे राज्य के विकास मेें मदद होगी। उग्रवादियों को मुख्यधारा में वापस लौटाने के लिये उन्होंने प्रदेश सरकार की उपलब्धि बतायी। सिंह ने जोर देते हुए कहा कि राह से भटके उग्रवादियों के लिये पिछली सरकार की नीतियों असफल रही थीं और उनका पुनरीक्षण करने की जरूरत थी। हमारी समर्पण के बाद पुनर्वास की नीति को केन्द्रीय गृह मंत्रालय से मंजूरी मिलने का इंतजार है। 

उन्होंनेे कहा कि समर्पण करने वालों की जरूरतों और समस्याओं को देखने के लिये एक अधिकारी नियुक्त किया जाएगा। समर्पण करने वाले उग्रवादियों के परिवारों की हर सम्भव मदद की जाएगी। उन्होंने कहा कि हमें उम्मीद है कि ज्यादा से ज्यादा उग्रवादी समर्पण करके समाज की मुख्यधारा से जुडऩे का प्रयास करेेंगे।