अफगानिस्तान में लोग जान बचाने के लिए देश छेड़ना चाहते हैं, लेकिन उन्हें कोई रास्ता नजर नहीं आ रहा है। ऐसे में बीते दिन जब यूएस सी-17 कार्गो जेट ने काबुल से अमरीका के लिए उड़ान भरी तो लोग अफगानिस्तानी उसमें जबरन बैठ गए। इस विमान को 150 सैनिकों के लिए डिजाइन किया गया है, लेकिन इसमें 640 लोग सवार हो गए। 

जान बचाने के लिए पायलट ने इस ओवरलोड विमान को उड़ाने का फैसला लिया। यह विमान अमरीकी दूतावास के कर्मियों को ले जाने के लिए आया था, लेकिन इसमें अफगानी नागरिक जबरन सवार हो गए। फ्लाइट क्रू ने लोगों को रोकने की बहुत कोशिश की, लेकिन लोगों ने उसकी एक न सुनी। अमरीकी रक्षा विभाग ने बताया कि शरणार्थियों को टेक्सास और विस्कॉन्सिन में हवाई अड्डों पर ले जाया गया है।

हैरानी की बात यह भी है कि यूएस एयरफोर्स के सी-17 विमान के क्रू ने भीड़ से भरे होने के बाद भी विमान को गंतव्य तक ले जाने का फैसला किया। अभी तक अमेरिका ने दो सी-17 कार्गो जेट अफगानिस्तान की राजधानी काबुल भेजे हैं। आने वाले हफ्तों में अमेरिका ऐसे और विमान भेजकर अपने सैनिकों और कर्मचारियों को वापस लाने की तैयारी में है।  इससे पहले सोमवार को एक और वीडियो सामने आया था। इस वीडियो में साफ दिखा कि हवा में उड़ते अमेरिका मिलिट्री एयरक्राफ्ट से गिरकर तीन लोगों की मौत हो गई। ये लोग एयरक्राफ्ट की बॉडी पर लटककर यात्रा कर रहे थे। स्थानीय लोगों के मुताबिक, देश छोड़ने के लिए ये लोग मिलिट्री प्लेन के टायरों के बीच में खड़े हो गए थे। काबुल एयरपोर्ट से टेक ऑफ करने के बाद जैसे ही प्लेन हवा में पहुंचा, ये लोग एक-एक कर नीचे गिरने लगे।